ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशWeather News: वोटिंग के दिन रहेगी कितनी गर्मी, पहले ही देख सकेंगे तापमान; IMD का नया इंतजाम

Weather News: वोटिंग के दिन रहेगी कितनी गर्मी, पहले ही देख सकेंगे तापमान; IMD का नया इंतजाम

1 अप्रैल को अप्रैल-जून के पूर्वानुमान में मौसम विभाग ने 10 से 22 दिन हीटवेव चलने की चेतावनी दी थी। बीते तीन हफ्तों से ओडिशा, महाराष्ट्र, बिहार, पश्चिम बंगाल और राजस्थान में जनता लू की मार झेल रही है।

Weather News: वोटिंग के दिन रहेगी कितनी गर्मी, पहले ही देख सकेंगे तापमान; IMD का नया इंतजाम
Nisarg Dixitलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 24 Apr 2024 07:02 AM
ऐप पर पढ़ें

IMD Weather Update: एक तरह जहां गर्मी का सितम हर रोज बढ़ रहा है। वहीं, लोकसभा चुनाव 2024 के चलते सियासी पारा भी हाई है। इसी बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग यानी IMD ने नई शुरुआत की है, जिसके तहत जनता को वोटिंग के दिन मौसम कैसा रहेगा? इसकी जानकारी मिल जाएगी। इतना ही नहीं अब रेल यात्रियों को भी मौसम की जानकारी पहले मिल सकेगी।

क्या हैं तैयारियां
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 11 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हीटवेव को लेकर तैयारियों के संबंध में एक बैठक आयोजित की थी। उस दौरान मौसम विभाग और NDMA के अधिकारी बैठक में मौजूद थे। खबर है कि मौसम विभाग चुनाव से जुड़ी मौसम की जानकारी वोटिंग के दिन यानी 26 अप्रैल, 7 मई, 13 मई, 20 मई, 25 मई और 1 जून को देगा।

7 चरणों में होने जा रहे लोकसभा चुनाव में पहले चरण का मतदान 19 अप्रैल को हो गया था। 2019 लोकसभा चुनाव के मुकाबले इस बार वोटिंग प्रतिशत में गिरावट देखी गई। कहा जा रहा था कि तेज गर्मी भी कम मतदान की एक वजह हो सकती है।

गर्मी की मार
1 अप्रैल को अप्रैल-जून के पूर्वानुमान में मौसम विभाग ने 10 से 22 दिन हीटवेव चलने की चेतावनी दी थी। बीते तीन हफ्तों से ओडिशा, महाराष्ट्र, बिहार, पश्चिम बंगाल और राजस्थान में लू की मार जनता झेल रही है। संभावनाएं जताई जा रही हैं कि मई दूसरे और तीसरे सप्ताह में जब 4 और 5 चरण का मतदान होगा, तब गर्मी अपने चरम पर होगी। इस दौरान ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना खासे प्रभावित हो सकते हैं।

रेलवे यात्रियों के लिए तोहफा
IMD ने रेलवे यात्रियों के लिए भी मौसम के पूर्वानुमान की व्यवस्था की है। खास बात है कि गर्मी में स्कूल और कॉलेज की छुट्टियों के चलते रेल यात्रियों की संख्या बढ़ने की संभावनाएं हैं। वहीं, चुनावी ड्यूटी में लगे कर्मियों को भी लंबी यात्राएं करनी पड़ सकती हैं।