DA Image
25 अक्तूबर, 2020|10:42|IST

अगली स्टोरी

उत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों में उमस भरा रहा मौसम, अरुणाचल में लैंड स्लाइड से सात लोगों की मौत

heavy rain alert

अरुणाचल प्रदेश में शुक्रवार को लगातार बारिश के कारण हुए भूस्खलनों में सात लोगों की मौत हो गई, जबकि उत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों में मौसम गर्म और उमस भरा रहा और क्षेत्र के तापमान में कुछ वृद्धि दर्ज की गयी। हिमाचल प्रदेश में पांच लोग उस समय घायल हो गए, जब आंधी में यूकलिप्टस का एक पेड़ उन पर गिर गया। इनमें से एक की हालत गंभीर बताई गई है। असम और मेघालय में भारी वर्षा हुई। असम में बाढ़ की स्थिति और बिगड़ गई क्योंकि बाढ़ ने दो और जिलों को अपनी चपेट में ले लिया, जिससे 1.70 लाख और अधिक लोग प्रभावित हुए हैं।

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने एक बुलेटिन में कहा कि अगले तीन-चार दिनों के दौरान देश के अधिकांश हिस्सों में अधिकतम तापमान में बहुत ज्यादा परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। विभाग ने बताया कि अगले तीन दिनों के दौरान नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उत्तराखंड और पश्चिम उत्तर प्रदेश में भारी से बहुत भारी वर्षा होने का अनुमान है। दिल्ली में शुक्रवार को गर्म और उमस भरा मौसम रहा जबकि लोगों को बारिश का इंतजार है। महानगर का अधिकतम तापमान 38.3 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया जो सामान्य से तीन डिग्री अधिक है।

आर्द्रता का स्तर 51 प्रतिशत और 81 प्रतिशत के बीच रहा। राष्ट्रीय राजधानी में मौसम कार्यालय ने शनिवार को आंशिक रूप से बादल छाए रहने का अनुमान जताया है। रात के समय हल्की बारिश या गरज के साथ छींटें पड़ने की संभावना है। हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई। कांगड़ा जिले के दाध चौक के पास शाम चार बजे के आसपास पेड़ उखड़ने की घटना हुई। शिमला के मौसम कार्यालय ने कहा कि कांगड़ा में शुक्रवार सुबह 8.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक 30 मिमी बारिश हुई, वहीं धर्मशाला में 17 मिमी, सुंदरनगर में 10 मिमी, स्वरघाट में 9 मिमी, झुंगी में 4 मिमी, सांगला में 3 मिमी, शिमला और मंडी में 2-2 मिमी वर्षा हुई। 

हरियाणा और पंजाब में अधिकतम तापमान कुछ डिग्री बढ़ गया। चंडीगढ़ में शाम को हल्की बारिश हुई और अधिकतम तापमान 36 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री अधिक है। राजस्थान के पूर्वी भाग में बीते चौबीस घंटे में कई जगह हल्की से मध्यम बारिश हुई हालांकि पश्चिम राजस्थान में कुल मिलाकर सूखा रहा।

मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार सुबह तक सबसे अधिक बारिश भीलवाड़ा के शाहपुरा में 55 मिमी दर्ज की गई। इसके अनुसार इसके अलावा दौसा में 40 मिमी, करौली के हिंडौन में 39 मिमी व दौसा के सिकराय में 25 मिमी बारिश हुई। अरुणाचल प्रदेश में पिछले पांच दिनों से जारी बारिश के बीच भूस्खलन की घटनाओं में सात लोगों की मौत हो गई और एक व्यक्ति लापता है। अधिकारियों ने बताया कि पापुम पारे जिले में बृहस्पतिवार देर रात भूस्खलन की घटना में आठ महीने की बच्ची समेत एक परिवार के चार सदस्य जिंदा दब गए। 

असम में बाढ़ की स्थिति शुक्रवार को और बिगड़ गई तथा दो और जिलों के बड़े क्षेत्र में पानी फैल गया। इससे 1.70 लाख और लोग इसकी चपेट में आ गए। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की रिपोर्ट में कहा गया है कि 14 जिलों के 32 राजस्व क्षेत्रों के 3,41,837 लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। बाढ़ का पानी बृहस्पतिवार से दो नए जिलों-उदलगिरी और डिब्रूगढ़ में भी फैल गया। बाढ़ और भूस्खलन के कारण राज्य भर में अब तक 64 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच, क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने असम और पड़ोसी मेघालय में विभिन्न स्थानों पर भारी वर्षा का अनुमान लगाया है।ो

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:IMD: Humid weather prevailed in most parts of North India seven people killed in landslides in Arunachal