ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देश120 किमी प्रति घंटा की स्पीड से चलेंगी हवाएं, चक्रवात रेमल मचा सकता है तबाही; कोलकाता एयरपोर्ट बंद करने की तैयारी

120 किमी प्रति घंटा की स्पीड से चलेंगी हवाएं, चक्रवात रेमल मचा सकता है तबाही; कोलकाता एयरपोर्ट बंद करने की तैयारी

मौसम विभाग के अनुसार, पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक गहरा दबाव बन गया है। शनिवार रात तक इसके चक्रवाती तूफान बनने की आशंका है। इस कारण कोलकाता एयरपोर्ट की उड़ानों को निलंबित कर दिया गया है।

120 किमी प्रति घंटा की स्पीड से चलेंगी हवाएं, चक्रवात रेमल मचा सकता है तबाही; कोलकाता एयरपोर्ट बंद करने की तैयारी
cyclone alert weather update 24 may imd cyclone forecast remal live location heavy rain alert foreca
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,कोलकाताSun, 26 May 2024 12:13 AM
ऐप पर पढ़ें

कोलकाता हवाई अड्डे के अधिकारियों ने चक्रवाती तूफान रेमल के संभावित प्रभाव को देखते हुए रविवार दोपहर से 21 घंटे के लिए उड़ानों का परिचालन निलंबित करने का फैसला किया है। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। मौसम विभाग के अनुसार, पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक गहरा दबाव बन गया है। शनिवार रात तक इसके चक्रवाती तूफान बनने की आशंका है। यदि निम्न दबाव का क्षेत्र चक्रवात में बदलता है तो उसका नाम रेमल होगा। मौसम विभाग के मुताबिक, रेमल बनने के बाद रविवार की रात यह पश्चिम बंगाल से टकरा सकता है। इनकी गति 110 से 120 किमी प्रति घंटा होगी अस्थायी तौर पर हवा की गति 135 किमी प्रति घंटा तक बढ़ सकती है।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय (एनएससीबीआई) हवाई अड्डे के हितधारकों की शनिवार को हुई एक बैठक के बाद उड़ानों को निलंबित करने का एहतियाती कदम उठाया गया है। एनएससीबीआई हवाई अड्डे के निदेशक सी पट्टाभि ने एक बयान में कहा, ‘‘कोलकाता सहित पश्चिम बंगाल के तटीय क्षेत्रों में चक्रवात रेमल के प्रभाव को देखते हुए हितधारकों के साथ एक बैठक की गई और कोलकाता में तेज हवाओं और भारी से बहुत भारी बारिश की आशंका के कारण 26 मई को दोपहर 12 बजे से 27 मई को सुबह नौ बजे तक उड़ानों के परिचालन को निलंबित करने का निर्णय लिया गया है। ’’

चक्रवाती तूफान रेमल के 110-120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से लेकर 135 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ 26 मई की आधी रात को पश्चिम बंगाल तथा बांग्लादेश के निकटवर्ती समुद्री तटों पर टकराने की आशंका है। मौसम विभाग कार्यालय ने 26-27 मई को पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तटीय जिलों में अत्यधिक भारी वर्षा की चेतावनी दी है। तूफान के समुद्र तट से टकराने के समय तटीय पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के निचले इलाकों में 1.5 मीटर तक की तूफानी लहर उठने की आशंका है।