ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशममता से लड़ना है तो 'राम के घर' आओ; खड़गे की चेतावनी के बाद अधीर रंजन को भाजपा का ऑफर

ममता से लड़ना है तो 'राम के घर' आओ; खड़गे की चेतावनी के बाद अधीर रंजन को भाजपा का ऑफर

खड़गे की चेतावनी के बाद अधीर रंजन ने कांग्रेस कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'यह संभव नहीं है कि कोई कांग्रेस को नष्ट कर देगा। एक पार्टी सिपाही के तौर पर मैं इस लड़ाई को नहीं रोक सकता।''

ममता से लड़ना है तो 'राम के घर' आओ; खड़गे की चेतावनी के बाद अधीर रंजन को भाजपा का ऑफर
Himanshu Jhaलाइव हिन्दुस्तान,कोलकाता।Sun, 19 May 2024 11:01 AM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष और पश्चिम बंगाल कांग्रेस के अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी ममता बनर्जी को लेकर हमेशा आक्रामक होने के कारण अपनी ही पार्टी में अलग-थलग पड़ते जा रहे हैं। ममता और टीएमसी के अन्य नेताओं ने बार-बार अधीर को 'भाजपा एजेंट' करार दिया है। ममता ने हाल ही में कहा था कि अगर इंडिया गठबंधन की सरकार बनती है तो टीएमसी भी समर्थन देगी। टीएमसी सुप्रीमो के बयान पर अधीर रंजन ने कहा था कि ममता पर भरोसा नहीं किया जा सकता है। उनके इस बयान के बाद कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने भी टिप्पणी की है। उन्होंने साफ-साफ कहा है कि ममता को लेकर जो भी फैसला होगा वह खड़गे खुद या आलाकमान सोनिया गांधी करेंगी।

खड़गे के बयान के बाद बीजेपी ने इस मौके को लपका और लगे हाथ बंगाल बीजेपी अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने अधीर रंजन चौधरी को पार्टी बदलने का ऑफर दे दिया।

शनिवार को प्रचार के दौरान एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में सुकांत मजूमदार ने कहा, 'मैं अधीरदा से यही कहूंगा कि अगर आप ममता बनर्जी से लड़ना चाहते हैं तो कोई उपयुक्त जगह ढूंढ लीजिए। जिस घर में आप हैं वह भयावहता से भरा है। भयावहता का घर छोड़ो। राम के घर चलो।' 

गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर पहले ही एक फर्जी मैसेज फैल चुका है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि अधीर चौधरी जून में बीजेपी में शामिल होंगे। हालांकि अधीर ने वायरल मैसेज का खंडन किया है। मल्लिकार्जुन खड़गे द्वारा अधीर को दी गई 'चेतावनी' के बाद फिर कयासों का बाजार गर्म हो गया है।

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने अधीर चौधरी को सख्त संदेश देते हुए ममता मुद्दे पर कहा, 'अधीर रंजन चौधरी फैसला नहीं लेंगे, हम फैसला लेंगे, कांग्रेस पार्टी फैसला लेगी। हम हाईकमान हैं। हम जो कहते हैं उसे मानना ​​होगा, नहीं तो हमें जाना होगा।' इसके अलावा खड़गे ने ममता के इंडिया ब्लॉक में होने को लेकर कहा, 'ममता बनर्जी शुरू से ही बाहर से समर्थन की बात करती रही हैं और बाहर से समर्थन कोई नई बात नहीं है। सबसे पहले यूपीए सरकार को वामपंथियों का भी बाहर से समर्थन प्राप्त था। हालांकि बाद में ममता ने यह भी कहा कि वह इंडिया गठबंधन में हैं और सरकार बनने पर उसमें शामिल होंगी।''

खड़गे की चेतावनी के बाद अधीर रंजन ने बहरामपुर स्थित कांग्रेस कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'यह संभव नहीं है कि कोई कांग्रेस को नष्ट कर देगा। एक पार्टी सिपाही के तौर पर मैं इस लड़ाई को नहीं रोक सकता। मेरा विरोध नैतिक विरोध है। मेरे विरोध से मेरी कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है। पश्चिम बंगाल में अपनी पार्टी को बचाने के लिए लड़ रहा हूं।'