If govt cannot we will avenge Aurangzebs death says Army jawans brother - श्रीनगरः सेना में जाना चाहता है शहीद का भाई, कहा- सरकार औरंगजेब के बदले सौ आतंकी मारे, नहीं तो हम खुद ले आएंगे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीनगरः सेना में जाना चाहता है शहीद का भाई, कहा- सरकार औरंगजेब के बदले सौ आतंकी मारे, नहीं तो हम खुद ले आएंगे

शहीद जवान औरंगजेब को शनिवार को पुंछ के सलानी गांव में सुपुर्द ए खाक किया गया। औरंगजेब को  पूरे सैनिक सम्मान के साथ आखिरी विदाई दी गई। इस दौरान हजारों लोगों की भीड़ औरंगजेब के अंतिम दर्शन के लिए पहुंची

Aurangzeb

जम्मू-कश्मीर में शहीद जवान औरंगजेब के परिजनों में जबरदस्त आक्रोश है। शहीद औरंगजेब के भाई ने कहा है कि हमे एक शहादत के बदले 100 आतंकियों की मौत चाहिए। 
 पुंछ में पत्रकारों से बात करते हुए औरंगजेब के भाई ने कहा कि अगर सरकार नहीं ऐसा नहीं कर सकती तो हमे बता दे, हम खुद जानते हैं कि इन्हें कैसे मारना है। लेकिन हम चाहते हैं कि पहले सरकार इस पर फैसला ले। औरंगजेब के छोटे भाई मोहम्मद असन का कहना है कि आतंकियों के खात्मे के लिए वह भी सेना मे भर्ती होंगे। वहीं औरंगजेब के गांव के लोगों ने सीजफायर खत्म करने की मांग की। गांव वालों ने कहा कि इसका किसी को कोई लाभ नहीं हुआ है। 

Aurangzeb's brother

सैनिक सम्मान के साथ अंतिम विदाई
शहीद जवान औरंगजेब को शनिवार को पुंछ के सलानी गांव में सुपुर्द ए खाक किया गया। औरंगजेब को  पूरे सैनिक सम्मान के साथ आखिरी विदाई दी गई। इस दौरान हजारों लोगों की भीड़ औरंगजेब के अंतिम दर्शन के लिए पहुंची। इस घटना से गांव में हर कोई गमजदा दिखा। अंतिम दर्शन के दौरान शहीद जवान के सम्मान में शहीद औरंगजेब अमर रहें के लोगों ने नारे लगाए। 

 

पिता का दर्द: घाटी में पाक के झंडे क्यों, औरंगजेब की हत्या का सरकार 32 घंटे में ले बदला 

औरंगजेब के पिता बोले- दूसरे बेटे को भी सेना में भेजेंगे
बेटे की शहादत पर औरंगजेब के पिता हनीफ ने कहा कि उनका बेटा एक बेटा शहीद हो गया है लेकिन उनका बड़ा बेटा भी फौज में है। जवान के पिता ने आगे कहा कि हम सब देश पर कुर्बान होने के लिए तैयार हैं। साथ ही मोहम्मद हनीफ ने केंद्र सरकार को कहा कि मोदी सरकार आतंकियों को मारकर बेटे की शहादत का बदला ले वरना वह खुद बदला लेंगे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि वह अपने दूसरे बेटों को भी सेना में भेजेंगे। 
शहीद औरंगजेब के पिता ने दूसरे लोगों से भी अपने बेटों को सेना में भजेने की अपील की है। हनीफ ने कहा कि चाहे कुछ भी हो जाए भारत से कश्मीर को कभी कोई (पाकिस्तान) नहीं छीन सकता। कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और इसे कोई अलग नहीं कर सकता है।   

भाजपा नेताओं ने परिजनों से की भेंट
जम्मू-कश्मीर भाजपा के प्रमुख रवींद्र रैना ने शनिवार को शहीद जवान औरंगजेब के परिजनों से मुलाकात कर शोक प्रकट किया। इस दौरान रैना ने कहा कि उनके हत्यारों का जल्द खात्मा कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि औरंगजेब की शहादत जाया नहीं जाएगी। रैना ने कहा कि पाकिस्तान इस खूनखराबे में लिप्त है और ईद के पहले रमजान के अंतिम दिन कश्मीर में उसने हिंसा की।  

शहीद औरंगजेब के जनाजे में अमड़ा जन सैलाब, पिता बोले- आतंकवादियों से लो बदला 

बुखारी को श्रद्धांजलि देने उनके पैतृक घर पहुंचीं महबूबा मुफ्ती
जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती आतंकी हमले में मारे गए वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी को श्रद्धांजलि देने शनिवार को उनके घर पहुंचीं। इस दौरान उन्होंने परिजनों को सांत्वना दी। राइजिंग कश्मीर के संपादक बुखारी की गत 14 जून को श्रीनगर में आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। 

शोकाकुल परिजनों से सहानुभूति जताते हुए महबूबा ने कहा कि हत्या से हर तरफ गुस्सा और दुख है। उन्होंने कहा कि घटना से पता चलता है कि हिंसा के पीछे का कोई भी तर्क उचित नहीं हो सकता। मुख्यमंत्री ने राज्य में मीडिया में नयापन लाने में योगदान के लिए भी बुखारी की सराहना की। उन्होंने कहा कि यह ऐतिहासिक तथा युवा पीढ़ी के लिए काफी महत्वपूर्ण है।  

आपको बता दें ईद मनाने के लिए घर आ रहे औरंगजेब को गुरुवार की सुबह आतंकियों ने पुलवामा के कलामपोरा में अगवा कर लिया था। बाद में उनकी लाश कलामपोरा से 10 किलोमीटर दूर गुसु गांव में मिली थी। उनके सिर और गले में गोली मारी गई थी। शहीद जवान औरंगजेब 4 जम्मू और कश्मीर की लाइट इंनफेंट्री में थे और उनकी पोस्टिंग 44 राष्ट्रीय राइफल्स कैंप के शादीमार्ग के शोपियां में थी। वह मेजर रोहित शुक्ला की टीम का हिस्सा थे, जिस टीम ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी समीर टाइगर को मार गिराया था।

राइफलमैन औरंगजेब की हत्या से पहले आतंकियों ने लिया था मेजर शुक्ला का नाम, जानें कौन हैं ये मेजर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:If govt cannot we will avenge Aurangzebs death says Army jawans brother