ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देश'राष्ट्रपति बना तो CAA लागू नहीं होने दूंगा', असम में यशवंत सिन्हा का बयान

'राष्ट्रपति बना तो CAA लागू नहीं होने दूंगा', असम में यशवंत सिन्हा का बयान

विपक्षी पार्टियों की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने कहा कि अगर वह राष्ट्रपति के लिए चुने जाते हैं, तो वह सुनिश्चित करेंगे कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) लागू न हो।

'राष्ट्रपति बना तो CAA लागू नहीं होने दूंगा', असम में यशवंत सिन्हा का बयान
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 13 Jul 2022 07:59 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा ने कहा कि अगर वह राष्ट्रपति के लिए चुने जाते हैं, तो वह सुनिश्चित करेंगे कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) लागू न हो। उन्होंने ये बातें असम के गुवाहाटी में विपक्षी सांसदों के साथ बातचीत में कही।

असम के विपक्षी सांसदों के साथ बातचीत करते हुए यशवंत सिन्हा ने कहा कि भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार सीएए को अभी तक लागू नहीं कर पाई है क्योंकि इसे जल्दबाजी में "मूर्खतापूर्ण मसौदा" की तरह बनाया गया था। उन्होंने कहा, "असम के लिए नागरिकता एक बड़ा मुद्दा है और सरकार पूरे देश में अधिनियम लाना चाहती थी, लेकिन अभी तक ऐसा नहीं कर पाई है।"

पहले कोरोना का बहाना फिर भी नहीं बनी बात
उन्होंने कहा, “पहले सरकार ने कोरोना महामारी का बहाना बनाया, लेकिन अब भी वे इसे लागू नहीं कर पाए हैं क्योंकि यह जल्दबाजी में मूर्खतापूर्ण तरीके से तैयार किया गया अधिनियम है।”  

बाहरी नहीं सत्ताधारियों से खतरा
सिन्हा ने आरोप लगाया कि संविधान किसी बाहरी ताकत से नहीं बल्कि सत्ता में बैठे लोगों से खतरे में है। हमें इसकी रक्षा करनी होगी। उन्होंने कहा, "अगर मैं राष्ट्रपति भवन में हूं, तो मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि सीएए लागू न हो।"

गौरतलब है कि यशवंत सिन्हा 18 जुलाई को होने वाले चुनाव के लिए विपक्षी दलों का समर्थन लेने के लिए असम के एक दिवसीय दौरे पर थे।

epaper