DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अगर फिर हुआ आतंकी हमला तो सरकार के पास सभी विकल्प खुले: सूत्र

IAFs Mirage-2000s carried out an air strike on a Jaish-e-Mohammed (JeM) terrorist camp in Pakistan’s

भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में 26 फरवरी को जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों पर एयरस्ट्राइक किया था। सूत्रों के मुताबिक, भारत की इस हमले के पीछे की मंशा और क्षमता पाकिस्तान में चला रहे आतंकी कैंपों तबाह करने की थी। सूत्रों ने बताया है कि अगर भारत में कोई और आतंकी हमला होता है तो सरकार ने सभी विकल्प खुले रखे हैं। 

भारत के सख्त रवैये के बाद पाकिस्तान ने कहा है कि वह आतंकवाद से लड़ने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। इतना ही नहीं उसका कहना है कि वह अपनी धरती का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए नहीं होने देगा। वो जमात-उद-दावा (जेयूडी) और फलाह-ए-इन्सानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है। सूत्रों का कहना है कि 2004 में तत्कालीन राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने भी इसी तरह की प्रतिबद्धता जताई थी। सूत्रों ने कहा है कि हमने पिछली सरकारों से भी यह सुना है। अगर यह नया पाकिस्तान है, तो हम नया एक्शन देखना चाहते हैं।

एयरस्ट्राइक पर रक्षामंत्री ने कहा, विदेश सचिव ने नहीं बताए कोई आंकड़े

सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान के विदेशमंत्री शाह महमूद कुरैशी के हालिया इंटरव्यू से पुष्टि हुई है कि पाकिस्तान की सरकार जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर से संपर्क में है। इस बात में कोई संदेह नहीं है कि मसूद अज़हर ही जैश-ए-मोहम्मद का सरगना है। इस बात से भारतीय केस मज़बूत होता है कि मसूद अज़हर को UNSC 1267 प्रतिबंध सूची में डाला जाए।

मसूद अज़हर के बीमार होने की ख़बरों को लेकर सूत्रों ने कहा है कि भारत ऐसी ख़बरों के बारे में चौकन्ना रहता है। इससे पहले भी इसी तरह की ख़बरें मुल्ला उमर और ओसामा बिन लादेन के बारे में मिलती रही हैं। हमारी कोशिश होगी कि मसूद अज़हर को कानून के कठघरे में लाया जाए। 

'वो मोदी पर स्ट्राइक करने में लगे,मोदी आतंक पर स्ट्राइक करने में जुटा'

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:If another terrorist attack happens all options are available to government: sources