DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मेघालय में मजदूरों को बचाने के लिए 20 हाई पावर पंप के साथ IAF का विमान उतरा, खदान तक पहुंचने के लिए अब 200 किलोमीटर का सफर

An Odisha team left on Friday morning in a special aircraft of the Indian Air Force with 20 high-pow

1 / 2An Odisha team left on Friday morning in a special aircraft of the Indian Air Force with 20 high-power pumps to assist in rescue operation in Meghalaya for 15 miners trapped for past 15 days.(Photo courtesy Fire Department , Odisha)

The Odisha team left on Friday morning in a special aircraft of the Indian Air Force with 20 high-po

2 / 2The Odisha team left on Friday morning in a special aircraft of the Indian Air Force with 20 high-power pumps. (Fire service department Odisha)

PreviousNext

मेघालय के लिए वायुसेना के विमान में रवाना हुई ओडिशा फायर सर्विस की 21 सदस्यीय टीम गुवाहाटी में उतर चुकी है। उनके साथ हाई पावर पंप्स भी है ताकि स्थानीय राहत दल को मदद कर ईस्ट जैन्टिया हिल्स जिले के क्सान गांव में एक खदान में फंसे 15 मजदूरों को बचाया जा सके। दुर्गघटनास्थल पर पहुंचने के लिए टीम को पर्वतीय इलाके से करीब 200 किलोमीटर का सफर तय करना होगा। मेघालय में लुम्थारी गांव के एक इलाके में 370 फुट गहरी अवैध कोयला खदान में ये मजदूर 13 दिसंबर से फंसे हुए हैं।

दिनोंदिन खदान में फंसे मजदूरों को बचाने की उम्मीद क्षीण होते जाने के बीच केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने गुरूवार को ओडिशा फायर सर्विस से मदद मांगते हुए उनके अनुभवी टीम को को भेजने की मांग की।

डायरेक्टर जनरल ऑफ फायर सर्विस एंड कमांडेंट जनरल, होम गार्ड्स और डायरेक्टर सिविल डिफेंस बीके शर्मा ने कहा कि चीफ फायर ऑफिसर सुकांता सेठी के नेतृत्व में टीम शुक्रवार की सुबह 20 शक्तिशाली पावर पंप के साथ वायुसेना के विमान में रवाना हो गए हैं।

ओडिशा दमकल विभाग टीम के विमान में सवार होने पर शर्मा ने ट्वीट कर कहा, ''गेट, सेट एंड गो। उन्होंने कहा, ''वे कोयला खदान में फंसे मजदूरों को बचाने में स्थानीय अधिकारियों की मदद करेंगे। अधिकारी ने बताया कि दल के पास कम से कम 20 हाई पावर पम्प है। प्रत्येक पम्प एक मिनट में 1,600 लीटर पानी निकालने में सक्षम है।

उन्होंने कहा, ''ओडिशा उन चुनिंदा राज्यों में से एक है जिसे इस तरह की आपदाओं से निपटने का अनुभव है। दमकल विभाग के कर्मचारी कई अन्य हाई टेक उपकरणों और गैजेट से भी लैस हैं। अधिकारी ने बताया कि दल पहले खोज एवं बचाव अभियान की योजना बनाने से पूर्व घटनास्थल पर स्थिति का अध्ययन और विश्लेषण करेगा।

उन्होंने कहा कि किसी कोयला खदान में बचाव अभियान चलाना ओडिशा दमकल सेवा कर्मचारियों के लिए चुनौतीपूर्ण अनुभव होगा। उन्होंने कहा, ''हमारे कर्मचारी अच्छी तरह प्रशिक्षित और किसी भी स्थिति से निपटने में सक्षम हैं। अधिकारी ने बताया कि उन्होंने पहले भी केरल समेत ओडिशा के भीतर और बाहर मुश्किल बचाव अभियान सफलतापूर्वक चलाए हैं। इस साल अगस्त में केरल में आई विध्वंसकारी बाढ़ के समय ओडिशा दमकल सेवा के 240 सदस्यीय दल ने बचाव अभियान में मदद की थी।

ये भी पढ़ें: मेघालय में फंसे खनिकों की जिंदगी बचाइए प्रधानमंत्री जी : राहुल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:IAF plane with 20 powerful pumps enroute Meghalaya for rescue mission