DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विंग कमांडर अभिनंदन से एजेंसियों ने किया सवाल-जवाब, जल्द ही कॉकपिट में लौटने की गुंजाइश

Abhinandan Vardhman

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान से रविवार को सुरक्षा एजेंसियों ने डीब्रीफिंग (सवाल-जवाब) की। वहीं यहां एक सैन्य अस्पताल में दूसरे दिन भी उनकी चिकित्सकीय जांच की जा रही है। वर्धमान को अटारी-बाघा सीमा से पाकिस्तान से भारत वापस लाने के बाद शुक्रवार देर रात दिल्ली लाया गया था जहां भारतीय वायु सेना के कई वरिष्ठ पायलटों ने उनसे मुलाकात की। अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियों ने विंग कमांडर से डीब्रीफिंग की और यह अगले कुछ दिनों तक जारी रहेगी। उनके कई चिकित्सकीय परीक्षण भी किए गए।

एक सैन्य अधिकारी ने बताया, ''यह सुनिश्चित करने की कोशिशें की जा रही हैं कि वह जल्द ही कॉकपिट में लौट आएं।" भारतीय हवाई क्षेत्र का उल्लंघन करने वाले पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों को खदेड़ने के दौरान हवा में हुई लड़ाई के दौरान उनका मिग 21 बाइसन गिर गया था जिसके बाद पाकिस्तानी सेना ने उन्हें पकड़ लिया था। इससे पहले वर्धमान ने पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया था।

F-16 को मार गिराने वाले अभिनंदन को पहला 'भगवान महावीर अहिंसा' पुरस्कार

विंग कमांडर शुक्रवार रात भारतीय वायु सेना की उड़ान से रात 11 बजकर करीब 45 मिनट पर राष्ट्रीय राजधानी पहुंचे। वह अटारी-वाघा सीमा से भारत में आने के करीब ढाई घंटे बाद यहां पहुंचे। उन्हें पहले एयर फोर्स सेंट्रल मेडिकल एस्टैबलिशमेंट (एएफसीएमई) ले जाया गया। बाद में उन्हें आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ले जाया गया।

IAF Air Strikes में कितना नुकसान हुआ, केंद्रीय मंत्री ने दिया ये जवाब

पाकिस्तान में पकड़े जाने के बाद वर्धमान ने मुश्किल परिस्थितियों से निपटने में साहस का परिचय दिया जिसके लिए नेता, कूटनीतिक मामलों के विशेषज्ञ, पूर्व सैन्य कर्मी, मशहूर हस्तियां और आम जनता उनकी प्रशंसा कर रही है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और वायु सेना प्रमुख बीएस धनोआ ने शनिवार को अलग अलग, वर्धमान से मुलाकात की जिस दौरान विंग कमांडर ने उन्हें बताया कि पाकिस्तान ने उन्हें कैद में रखने के दौरान मानसिक रूप से प्रताड़ित किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:IAF pilot Varthaman Varthaman undergoes debriefings by security agencies