ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशमोबाइल गेम में बेटे ने उड़ाए 36 लाख, विधवा मां के खाते में फूटी कौड़ी भी नहीं बची

मोबाइल गेम में बेटे ने उड़ाए 36 लाख, विधवा मां के खाते में फूटी कौड़ी भी नहीं बची

बच्चों की मोबाइल गेम के चक्कर में पैरेंट्स बर्बाद हो जा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला हैदराबाद में सामने आया है। यहां 16 साल के लड़के ने मोबाइल गेम के चक्कर में अपनी मां के 36 लाख रुपए लुटा डाले।

मोबाइल गेम में बेटे ने उड़ाए 36 लाख, विधवा मां के खाते में फूटी कौड़ी भी नहीं बची
Deepakलाइव हिंदुस्तान,हैदराबादSat, 10 Jun 2023 02:51 PM
ऐप पर पढ़ें

बच्चों की मोबाइल गेम के चक्कर में पैरेंट्स बर्बाद हो जा रहे हैं। ऐसा ही एक मामला हैदराबाद में सामने आया है। यहां 16 साल के लड़के ने मोबाइल गेम के चक्कर में अपनी मां के 36 लाख रुपए लुटा डाले। यह किशोर हैदराबाद के अंबरपेट इलाके का रहने वाला है। जानकारी के मुताबिक वह ऑनलाइन गेम खेलता था। गेम को जारी रखने के एवज में उसे कुछ पैसे चुकाने पड़ते थे। ऐसा करते-करते उसने अपनी मां की पूरी कमाई ही उड़ा डाली।

ऐसे हुई शुरुआत
बताया जाता है कि पहले लड़के ने अपने दादाजी के मोबाइल पर फ्री फायर गेमिंग ऐप डाउनलोड किया। वैसे तो यह फ्री गेम है, लेकिन जब लड़का गेम में आगे बढ़ा तो कुछ पैसे खर्च करने लगा। गेम को खेलने के लिए पहले उसने अपनी मां के खाते से 1500 और फिर 10 हजार रुपए खर्च किए। जैसे-जैसे उसने पैसे खर्च किए गेम में और ज्यादा स्किल्स और वेपंस जुड़ने लगे। इसके चलते वह गेम का एडिक्ट होता चला गया। अपने इस एडिक्शन के चलते वह बिना घरवालों को बताए इस पर और भी ज्यादा पैसे खर्च करने लगा। आलम यह हो गया कि उसने 1.45 लाख से लेकर 2 लाख रुपए तक फ्री फायर गेम में खर्च कर डाले। 

पिता की मौत के बाद मिले थे पैसे
एक दिन उसकी मां को पैसों की जरूरत हुई तो वह बैंक पहुंचीं। यहां उन्हें यह जानकर झटका लगा कि उनके अकाउंट में पैसे ही नहीं बचे हैं। बैंक अधिकारियों ने बताया कि उनके अकाउंट से करीब 27 लाख रुपए की अमाउंट खर्च की गई है। साथ ही किसी अन्य बैंक अकाउंट से भी पेमेंट किया गया है। तब महिला को पता चला कि उसके बेटे ने एचडीएफसी बैंक से भी 9 लाख रुपए खर्च किए हैं। इस तरह कुल खर्च की गई अमाउंट 36 लाख हो गई। मामले की जानकारी होते ही महिला ने साइबर क्राइम पुलिस थाने में केस दर्ज कराया। लड़के पिता पुलिस में थे, जिनकी मृत्यु हो चुकी है। फिलहाल वह 11वीं में पढ़ता है। महिला ने पुलिस को बताया कि वह उनके पति की गाढ़ी कमाई थी। इसके अलावा पति की मौत के बाद मिली आर्थिक सहायता की रकम भी इसमें शामिल थी। सिर्फ एक मोबाइल गेम के चलते वह सबकुछ गंवा बैठी हैं।