DA Image
21 जनवरी, 2020|3:12|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Hyderabad Encounter: पूर्व CJI बोले, क्या हम अराजकता वाले समाज की ओर बढ़ रहे

                                          cji

हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर से बलात्कार और हत्या मामले तथा पुलिस मुठभेड़ में आरोपियों के मारे जाने का हवाला देते हुए देश के पूर्व प्रधान न्यायाधीश (Former CJI) आर एम लोढ़ा ने मंगलवार को कहा कि देश नागरिकों के मानवाधिकारों की रक्षा करने में जूझ रहा है और इस तरह के अपराध समाज में व्याप्त गहरी दुर्भावना को दर्शाते हैं।

अपराधियों के बर्बर अपराध करने से नहीं डरने और पुलिसिया मुठभेड़ में चारों आरोपियों के मारे जाने को दुखद बताते हुए न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) लोढ़ा ने कहा कि 'क्या हम अराजकता वाले समाज की ओर बढ़ रहे हैं।' उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ ने कहा कि उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता को जला देना और हैदराबाद सामूहिक दुष्कर्म-हत्या मामले में चार आरोपियों के शव, भारत के दो पहलुओं की सटीक तस्वीर पेश करता है। 

दोनों न्यायमूर्ति, यहां अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्थान द्वारा आयोजित मानवाधिकार दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। न्यायमूर्ति लोढ़ा ने कहा, 'हम मानवाधिकार दिवस मना रहे हैं, दूसरी ओर यह भी तथ्य है कि हम मानवाधिकारों की रक्षा के लिए संघर्ष कर रहे हैं। इसका स्पष्ट उदाहरण हैदराबाद में पशु चिकित्सक से दुष्कर्म और हत्या तथा पुलिसिया मुठभेड़ में आरोपियों के मामले में देखने को मिलता है।' 

लोढ़ा ने कहा, 'देश के एक हिस्से में हर दिन बलात्कार और हत्या की घटनाएं हो रही हैं या दूसरा इस तरह के अपराध समाज में व्याप्त गहरी दुर्भावना को दर्शाते हैं। अपराधी बर्बर अपराध करने से नहीं डर रहे। पुलिसिया मुठभेड़ में चारों आरोपियों का मारा जाना दुखद है। क्या हम अराजकता वाले समाज की ओर बढ़ रहे हैं।'

ये भी पढ़ें: Hyderabad encounter: मारे गए आरोपी युवक की पत्नी बोली- उसी जगह पर ले जाकर मुझे भी मार दो

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hyderabad Encounter Former CJI said are we moving towards a society with chaos