DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले पत्नी को दिया तलाक फिर शौहर से निकाह के लिए पंचायत ने रखी ये शर्त

  husband gives tripal talaq to wife

उत्तर प्रदेश के मेरठ के लिसाड़ी गेट निवासी एक युवक ने पत्नी को तीन तलाक दे दिया। इसके बाद देवर से हलाला कराने का दबाव बनाया तो पंचायत में हंगामा हो गया। युवती के परिजनों और दूसरे पक्ष के बीच झड़प हुई। बिरादरी के लोगों ने बीच बचाव कराया। युवक और उसके परिजनों के खिलाफ लिसाड़ी गेट थाने में युवती के परिजनों की ओर से तहरीर दी गई है। आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की मांग की है। पुलिस जांच में जुटी है।

अब्दुल्लापुर निवासी युवती का निकाह दो साल पहले समर गार्डन के युवक से हुआ था। करीब एक साल से पत्नी को युवक परेशान कर रहा था। दो माह पूर्व पत्नी को मारपीट कर घर से निकाल दिया। बाद में दोनों पक्ष ने समझौता करा दिया। सात जुलाई को दोबारा विवाद हुआ और युवक ने पत्नी को तीन तलाक दे दिया। परिजनों को सूचना देकर युवती ने बुलाया। परिजनों के साथ युवती अब्दुल्लापुर चली गई। युवती की ओर से लिसाड़ी गेट थाने में तीन तलाक की तहरीर दी गई।

फांसी लगाने से पहले युवक ने भगवान समेत 4 लोगों के नाम लिखा सुसाइड नोट

सप्ताह पूर्व दोनों पक्षों के बीच पंचायत हुई। निर्णय लिया कि युवती की ओर से तहरीर वापस ली जाएगी। इसके बदले में उसे पांच हजार रुपये महीना खर्चा और एक मकान दिया जाएगा। दोनों पक्ष इसे लेकर रजामंद भी हो गए। दो दिन पहले युवक के परिवार के कुछ लोग अब्दुल्लापुर पहुंचे। रविवार को समर गार्डन में पंचायत रखकर युवती के परिजनों को बुलाया। रविवार रात पंचायत में प्रस्ताव रखा गया कि युवती का हलाला देवर से करा दिया जाए और इसके बाद पति से दोबारा निकाह हो जाएगा। 

जिम से शादीशुदा महिला को लेकर फरार,भागने से पहले FB अकाउंट कराया डिलीट

इस पर युवती के परिजनों ने हंगामा कर दिया। पंचायत में बखेड़ा हो गया। युवती के परिजनों और दूसरे पक्ष के बीच धक्कामुक्की हुई। बाद में युवती के परिजनों ने लिसाड़ी गेट थाने में युवक समेत परिवार के सात लोगों के खिलाफ तहरीर दी है। सीओ दिनेश शुक्ला ने बताया कि जांच की जा रही है और मुकदमा दर्ज किया जाएगा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:husband gives tripal talaq to wife and condition given by the panchayat for the marriage of the first wife and the marriage to the husband