DA Image
19 जनवरी, 2020|4:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

HTLS 2019 2nd Day Highlights: वित्त मंत्री सीतारमण से लेकर दिल्ली के CM केजरीवाल तक ने बेबाकी से दिये सवालों के जवाब

htls 2019 2nd day highlights

हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2019 (HTLS 2019) में शनिवार को दूसरे दिन की शुरुआत केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की बातचीत के साथ शुरू हुई। हॉलीवुड एक्टर-प्रोड्यूसर माइकल डगलस और एक्ट्रेस कैथरीन ज़ीटा जोन्स के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बेबाकी से अपनी बातें रखीं। कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी, टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा और लद्दाख से भाजपा सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल ने भी अपने विचार रखे। इसके अलावा डॉ. सतचिन पांडा और डॉक्टर डेविड लुडविग ने लोगों को सेहत के टिप्स दिए। कार्यक्रम का समापन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के संबोधन से हुआ। आइये जानते हैं हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2019 में किसने क्या कहा....

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण  :
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2019 में कहा कि जीएसटी एक अच्छा कानून है और भारत जैसे बड़े देश के लिए आवश्यक है। उन्होंने ये भी कहा कि टैक्स रेट को बार बार घटाने के चलते उसके एक चरण पर मूल रूप से सहमत होने वाली रूपरेखा विकृत हो गई। वित्त मंत्री ने कहा कि जीएसटी एक अच्छा कानून है और हमें ये सही और समय पर मिला है। उनके मुताबिक यह अरुण जेटली और पीएम मोदी का व्यक्तित्व था, जो राज्यों को जीएसटी मिला। उन्होंने कहा कि अधिक करों को कम करने में, ऋण शून्य हो गया और जीएसटी के एक चरण पर मूल रूप से सहमत होने वाली रूपरेखा बिगड़ गई है।
राज्यों को अगस्त महीने के बाद से जीएसटी का कंपंसेशन नहीं मिल रहा है इस रकम के बारे में वित्त मंत्री ने कहा कि पिछले कई महीनों में हुए जीएसटी संग्रह में सेस फंड पर्याप्त नहीं था यही वजह है कि इसलिए राज्यों को 14 फीसदी का मुआवजा नहीं मिला। सरकार की तरफ से वित्त मंत्री ने ये भी साफ कर दिया कि जब हम आवश्यक सेस एकत्र करते हैं, तो हम मुआवजे की दर का सम्मान करेंगे।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह :
पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का कहना है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण समस्या को नहीं समझती है। दरअसल, एचटी समिट में हिस्सा लेते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि जीएसटी के बारे में कहा था कि वह राज्यों की परेशानियों को समझती है, इस बारे में सवाल किए जाने पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्हें समस्या तक का पता नहीं है। पंजाब को अगस्त से जीएसटी नहीं मिला है। इसकी वजह से प्रदेश सरकार को कर्मचारियों को तंख्वाह देने के लिए ऋण लेना पड़ रहा है।  कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि आप लोगों को नहीं कह सकते कि देश छोड़ दो और दूसरा देश भी उनका जगह दे यह जरूरी नहीं है। उन्होंने कहा कि हमारे कॉमयूनिटी के कई लोग विदेशों में रहते हैं और वहीं पैदा हुए हैं अगर वो देश में वापस आना चाहते हैं तो उनका स्वागत है। जब उनसे पूछा गया कि एनआरसी के मुद्दे पर अकाली दल केन्द्र सरकार के समर्थन पर है तो उन्होंने कहा कि अकाली क्या कहते हैं मैं इस पर कुछ नहीं कहना चाहता हूं। आप लोगों को कैसे कह सकते हैं जाने के लिए। अगर कनाड़ा, अमेरिका से कोई आता है तो आप उसे रोक नहीं सकते।

छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल :
छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि जीएसटी के तहत सरकार को 1750 करोड़ रुपए देने थे, पर इनमें से 900 करोड़ बकाया है। चावल पर बोनस का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि केंद्र का कहना है कि अगर हम किसानों को बोनस देंगे तो वह चावल नहीं खरीदेगें। अर्थव्यवस्था में मंदी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार को लोगों को फायदा देना चाहिए। लोगों के पास पैसा आएगा, तो वह खर्च करेंगे और इससे मांग बढेगी। छत्तीसगढ का उदाहरण देते हुए भूपेश बघेल ने कहा कि हमने डॉ मनमोहन सिंह से सीखा है कि लोगों को फायदा दो। इसका असर यह है कि छत्तीसगढ में मांग बढी है। कार व गाडियां भी अधिक खरीदी गई हैं। हैदराबाद मुठभेड पर अपने बयान पर सफाई देते हुए छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि अगर पुलिस ने बचाव में फायरिंग की है, तो ठीक है। यह सही नहीं है तो फिर जांच का विषय है। अपनी प्रतिक्रिया पर सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने शुरुआती रिपोर्ट के आधार पर यह बयान दिया था, इन बयानों में कहा गया था कि आरोपियों ने पुलिस से हथियार छीनकर उन पर फायरिंग की थी।

भाजपा सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल  :
भाजपा सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल ने कहा है कि नागरिकता संशोधन विधेयक संविधान या धर्मनिरपेक्षता के खिलाफ नहीं है। एचटी लीडरशिप समिट में नागरिकता संशोधन विधेयक से जुड़े सवालों पर जामयांग ने कहा कि हम सरकार में देश चलाने के लिए हैं धर्मशाला नहीं। लद्दाख से भाजपा सांसद जामयांग ने कहा कि सरकार में सभी लोग चाहते हैं कि मजबूत देश बने और इसी लक्ष्य को हम हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं। चर्चा के पैनल में मौजूद कांग्रेस नेता मनीष तिवारी और तृणमूल कांग्रेस की महुआ मोइत्रा ने विधेयक को संविधान के खिलाफ बताया।
डर पैदा कर समर्थन पाने की कोशिश

सांसद मोइत्रा ने क्या कहा :
महुआ मोइत्रा ने सरकार पर नागरिकता संशोधन विधेयक के बहाने निशाना साधते हुए कहा कि धर्म के आधार पर भेदभाव किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जब से यह सरकार आई है जो चीजें पहले निजी तौर पर कही जाती थीं वह अब सार्वजनिक रूप से कही जाने लगी हैं। इस विधेयक के माध्यम से वे इसे मजबूत बनाना चाहते हैं। जब मोइत्रा से पूछा गया कि अन्य कई विपक्षी दलों के लोग इस बिल का समर्थन क्यों कर रहे हैं, महुआ ने कहा कि सरकार अपनी एजेंसियों का उपयोग कर रही है। उनके अधीन एजेंसियां हैं वे स्नूपिंग सहित अन्य माध्यमों का उपयोग करके डर पैदा कर रहे हैं। लेकिन जामयांग ने इसका विरोध करते हुए कहा कि जब अनुच्छेद 370 समाप्त किया गया तो भी विभिन्न विरोधी दलों ने समर्थन किया जबकि उनपर कोई दबाव नहीं था।

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी :
मनीष तिवारी  ने कहा कि उनकी पार्टी नागरिकता संशोधन विधेयक के मौजूदा स्वरूप का विरोध करेगी। उन्होंने कहा कि विधेयक संविधान के बुनियादी सिद्धांतों के खिलाफ तैयार किया गया है। सह संविधान की धारा 14,15 और 21 की अवहेलना करता है। तिवारी ने कहा कि 1947 में जब देश का बंटवारा हुआ तो इस्लामिक देश पाकिस्तान बना और बहुवादी भारत बना। कुछ लोग थे जिन्हें बहुवादी भारत पर भरोसा नहीं था। तिवारी ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि वो जानते हैं कि वे विधेयक क्यों लाए हैं, हम भी जानते हैं कि वो विधेयक क्यों लाए हैं, हम भी जानते हैं कि वे विधेयक क्यों लाए हैं।

न्यूट्रीशन रॉकेट साइंस नहीं- डॉ. सतचिन पांडा  :
डॉ. सतचिन पांडा ने न्यूट्रीशन, ओबेसिटी पर बात करते हुए कहा कि न्यूट्रीशन रॉकेट साइंस नहीं है। पहले के समय में जब कोई बच्चा पैदा होता था तो उसकी औसत आयु लगभग 50 वर्ष मानी जाती थी लेकिन आज के समय में एक व्यक्ति की औसत आयु 70 से 73 वर्ष मानी जाती है। वक्त के साथ विज्ञान ने मनुष्य को लंबे जीवन का वरदान तो दिया लेकिन प्रश्न यह उठता है कि क्या यह लंबा जीवन स्वस्थ भी है। 20 साल  अतिरिक्त मिले इस जीवन को सेहतमंद तरीके से गुजारने के लिए  डॉक्टर सैचिन पांडा बताते हैं कि आखिर डाइट में कौन से न्यूट्रिशन शामिल करें और किस न्यूट्रिशन को एवॉइड करना चाहिए।  

डॉक्टर डेविड लुडविग ने क्या कहा :
डॉक्टर डेविड लुडविग ने कहा कि भारत में टाइप-2 डायबिटीज लगातार बढ़ती जा रही है। डायबिटीज न सिर्फ आपके काम करने की क्षमता को घटा देती है बल्कि कई अन्य रोगों की भी वजह बनती है। डॉक्टर डेविड लुडविग ने कहा- हमें डायबिटीज जैसे रोग को रोकना होगा ग्लोबल हेल्थ एक्सपरेट डॉ. डेविड लुडविग डायबिटीज की एक बड़ी वजह भारतीय भोजन को भी मानते हैं। उन्होंने कहा, भारतीय लोग काफी हेवी डाइट लेते हैं, उनकी डाइट में प्रोसेस्ड कार्ब्स काफी होता है, जिसे वेजेटेरियन प्रोटीन से बदला जाना चाहिए। डॉक्टर डेविड लुडविग ने कहा- हम इस बात पर रिसर्च की जरूरत है ताकि भारत में डायबिटीज जैसे रोगों पर रोक लगाई जा सके। प्रोसेस्ट कार्बोहाइड्रेट्स में भारतीयों की डाइट काफी हैवी होती है। डॉ. डेविड लुडविग भारतीयों को जापान और चीनी भोजन से प्रेरणा लेते हुए उन्हें उकी तरह भोजन में प्रोटीन शामिल करने की सलाह देते हैं। हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2019 में डॉ. डेविड लुडविग भारतीयों को अच्छी सेहत बनाए रखने के लिए आहार में से प्रोसेस्ड कार्ब्स को कम करने की सलाह देते हुए नजर आए।

हॉलीवुड एक्टर-प्रोड्यूसर माइकल डगलस और एक्ट्रेस कैथरीन ज़ीटा जोन्स  :
हॉलीवुड एक्टर-प्रोड्यूसर माइकल डगलस और एक्ट्रेस कैथरीन ज़ीटा जोन्स ने अपने प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ को लेकर कई खुलासे किए। माइकल डगलस और कैथरीन ज़ीटा जोन्स से इस दौरान अनिल कपूर ने पूछा कि शादी के 20 साल हो गए हैं, कैसा रहा आप दोनों का सफर। इस पर कैथरीन ने कहा कि हमारी शादी को 20 साल हो गए हैं लेकिन अभी भी हर रोज नया लगता है। मेरे पति उम्र में चाहे जितने भी बड़े हो जाएं हमारा रिश्ता हमेशा रियल रहेगा। हम दोनों के बीच प्यार है, फ्रेंडशिप है क्योंकि मैंने अपने बेस्ट फ्रेंड से शादी की है और हम दोनों ही रिश्ते की गहराई को समझते हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल :
हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2019 के अंत में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पहले जो हमारी आलोचना करते थे वो आज हमसे प्यार करने लगे हैं। उन्होंने कहा कि अभी हमारी सरकार के दो महीने बचे हैं और हम बचे हुए लोगों का दिल जीत सकते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ईमानदारी से चलाई जा सकती है। चुनाव ईमानदारी से लड़े जा सकते हैं और जीते भी जा सकते हैं। दूसरा 70 साल से राजनीति में निराशा थी लेकिन हमारी सरकार ने पिछले कुछ सालों से ऐसा काम किया जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। दिल्ली में हमारी सरकार ने शिक्षा और स्वास्थ्य के क्ष्‍ोत्र में इतने काम किए है कौन सोच सकता था। उन्होंने कहा कि गरीबों का बच्चा पहले गरीब बनता था लेकिन आज इंजीनियर और डॉक्टर बनता है। अगर हम देश को विकसित देश बनाना चाहते हैं तो हमें पहले अपनी शिक्षा में काम करना होगा। अगर चुनाव से पहले कोई आपके पास आता है और कहता है हम देश को ये बना देंगे तो पहले आप उनसे पूछिएगा आपकी शिक्षा को लेकर नीति क्या है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:HTLS 2019 2nd Day Highlights hindustan times leadership summit Nirmala Sitharaman Arvind Kejriwal