DA Image
26 नवंबर, 2020|4:43|IST

अगली स्टोरी

गृहमंत्री राजनाथ जम्मू पहुचें, 'स्मार्ट फेंसिंग' का किया उद्घाटन

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू कश्मीर में सरहद की निगरानी के लिए दो 'स्मार्ट फेंसिंग' पायलट परियोजना का उद्घाटन कर दिया है।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह। (File Photo)

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू कश्मीर में सरहद की निगरानी के लिए दो 'स्मार्ट फेंसिंग' पायलट परियोजना का उद्घाटन कर दिया है। इन परियोजनाओं को कम्प्रेहेंसिव इंटीग्रेटिड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम (सीआईबीएमएस) कार्यक्रम के तहत शुरू किया गया है।

इससे पहले मुख्य सचिव बी.वी.आर सुब्रमण्यम, पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह, जम्मू के विभागीय आयुक्त संजीव वर्मा, जम्मू के महानिरीक्षक एस.डी.सिंह जामवाल के साथ सीमा सुरक्षा बल के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने राजनाथ सिंह का हवाईअड्डे पर स्वागत किया। 

आईएएनएस के अनुसार, इसके बाद राजनाथ मढ़ विधानसभा निवार्चन क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) के पास मकोवल का दौरा करेंगे, जहां वह स्वच्छ भारत अभियान में भाग लेंगे। राजनाथ ने रवाना होने से पहले ट्वीट कर कहा,'जम्मू के एक दिवसीय दौरे के लिए रवाना हो रहा हूं। सीआईबीएमएस के तहत जम्मू सेक्टर में दो पायलट परियोजना का उद्घाटन और अंतरार्ष्ट्रीय सीमा के निकट की अग्रिम इलाकों का दौरा करूंगा।'

इन स्मार्ट फेंसिंग परियोजनाओं को जम्मू में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 5.5 किलोमीटर क्षेत्र में तैयार गया है। यह अपनी तरह की पहली हाईटेक निगरानी प्रणाली होगी, जो जमीन, पानी, हवा और भूमिगत स्तर पर एक अदृश्य इलेक्ट्रॉनिक दीवार का काम करेगी, जिससे सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) के जवानों को अत्यधिक दुर्गम क्षेत्रों में घुसपैठ रोकने में मदद मिलेगी।

सीआईबीएमएस के तहत अत्याधुनिक सर्विलांस टेक्नोलॉजी, थर्मल इमेजर्स, इन्फ्रारेड और लेजर आधारित घुसैपठ अलार्म हैं, जो एक अदृश्य जमीनी चारदीवारी की तरह काम करेंगे। हवाई निगरानी के लिए एयरोस्टेट, सुरंगों के जरिए घुसपैठ का पता लगाने में मदद के लिए ग्राउंड सेंसर, पानी के रास्ते सेंसर युक्त सोनार सिस्टम, जमीन पर ऑप्टिकल फाइबर सेंसर हैं।

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि यह कार्यक्रम सीमा प्रबंधन प्रणाली को ज्यादा मजबूत बनाता है, जो मानव संसाधन के साथ आधुनिक प्रौद्योगिकी को जोड़कर काम करेगा। अधिकारी ने कहा, 'इंटीग्रेटेड बॉर्डर मैनेजमेंट सिस्टम पर आधारित यह आभासी बाड़ भारत में अपनी तरह की पहली परियोजना होगी।' 

अधिकारी ने कहा कि सीआईबीएमएस को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि दुर्गम क्षेत्रों और रिवराइन सीमाओं पर जवानों की गैरमौजूदगी में यह घुसपैठ को रोकने में मदद करेगी। 

ये भी पढ़ें: कर्नाटक में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर की हुई कटौती

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:home minister rajnath singh is in jammu for innaugration of smart fencing