ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशकश्मीर से आतंक और देश से गरीबी का हो रहा अंत, HTLS 2023 में पीएम मोदी ने बताया कैसे टूटे बैरियर्स

कश्मीर से आतंक और देश से गरीबी का हो रहा अंत, HTLS 2023 में पीएम मोदी ने बताया कैसे टूटे बैरियर्स

पीएम मोदी ने HTLS 2023 में कहा, 'आजादी के समय देश कई बंधनों से बंधा हुआ था। इस दौरान देश उस गति से आगे नहीं बढ़ पाया जितना कि सामर्थ्य था। यहां कुछ बैरियर्स ऐसे भी थे जो खड़े किए गए थे।'

कश्मीर से आतंक और देश से गरीबी का हो रहा अंत, HTLS 2023 में पीएम मोदी ने बताया कैसे टूटे बैरियर्स
Niteesh Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 04 Nov 2023 08:37 PM
ऐप पर पढ़ें

हिन्दुस्तान टाइम्स लीडरशिप समिट 2023 (HTLS 2023) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार शाम को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि मैं एयरपोर्ट से सीधे यहां आया हूं। उन्होंने कहा, '2014 में जब हमारी सरकार बनी और हमारा सेवाकाल शुरू हुआ, उस वक्त इस समिट की थीम 'रीशेपिंग इंडिया' थी। यानी यह साफ था कि देश के नया आकार मिलने वाला है। आपने यह संदेश दिया कि भारत बेहतरी की ओर बढ़ रहा है। एचटीएलएस समिट की इस बार की थीम 'बियॉन्ड बैरियर्स' रखी गई है। इससे पता चलता है कि हमारा देश कई सारे बैरियर्स तोड़ने जा रहा है।'

पीएम मोदी ने कहा, 'देश की जनता अब सभी बाधाओं को तोड़कर राजनीतिक प्रतिनिधियों का समर्थन करेगी। वह इसे उज्जवल भारत की नींव के तौर देखती है। 2024 के नतीजे बैरियर्स से परे होंगे।' उन्होंने कहा कि आजादी के समय देश कई बंधनों से बंधा हुआ था। इस दौरान देश उस गति से आगे नहीं बढ़ पाया जितना कि सामर्थ्य था। यहां कुछ बैरियर्स ऐसे भी थे जो खड़े किए गए थे। मगर, 2014 के बाद से भारत इन बंधनों को तोड़ने की कोशिश कर रहा है। आज हम लोग बियॉन्ड बैरियर्स की बात कर रहे हैं। भारत नई ऊंचाइयों तक पहुंचने के लिए लगातार बाधाओं को तोड़ रहा है। चाहे वह स्टार्ट-अप, मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग या डिजिटल लेनदेन हो। भारत बैरियर्स को तोड़कर ही चांद पर पहुंचा है।'

पीएम मोदी बोले- खादी को कोई पूछता तक नहीं था मगर...
पीएम मोदी ने कहा कि खादी को कोई पूछता तक नहीं था। सिर्फ नेताओं तक का ही विषय रह गया था। पिछले 10 सालों में खादी की बिक्री तीन गुना से ज्यादा बढ़ गई है। उन्होंने कहा, 'जनधन योजना को लेकर आए, तब एक्सपर्ट ने कहा कि अकाउंट खोलना संसाधनों की बर्बादी है, गरीब एक पैसा भी नहीं डालेगा। मगर, बात सिर्फ पैसों की नहीं थी, बात थी मेंटल बैरियर तोड़ने और माइंडसेट बदलने की। गरीबों के लिए बैंक अकाउंट होना भी अमीरों की चीज थी। जब उसने देखा कि बैंक खुद उसके दरवाजे तक आ रहे हैं, उसके मन में विश्वास जगा। आज वह अभिमान से जेब से रुपे कार्ड निकालकर इस्तेमाल करता है।'

जम्मू-कश्मीर से 370 हटाने से आतंकवाद का हो रहा अंत: पीएम मोदी
प्रधानमंत्री ने कहा, 'आज गरीब को लगता है कि जो अमीर के पास है, वो मेरे पास भी है। आज गरीब को मनोवैज्ञानिक संभल मिला है। मैं गरीब परिवार से आया हूं। सरकार के प्रयासों ने लोगों का माइंडसेट बदला है। लोग खिलाड़ियों को कहते थे कि खेल रहे तो नौकरी का क्या करोगे। मगर, हमारी सरकार ने यहां भी बैरियर्स तोड़े हैं। हमारी सरकार के प्रयासों से मेडल्स की बारिश हो रही है।' प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे देश में ऐसी भी समस्याएं रहीं जिन्हें बहुत बड़ा बना दिया गया था। जैसे कि जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को हटाना। मगर, 370 हटाने के बाद घाटी में आतंकवाद का अंत हो रहा है। 

5 साल में 13 करोड़ लोग गरीबी से आए बाहर: प्रधानमंत्री
पीएम मोदी ने पूर्व की सरकारों पर हमला बोलते हुए कहा कि गरीबी से स्लोगन से नहीं, सॉल्यूशन से लड़ा जा सकता है। गरीबी को नारे से नहीं, नीति और नीयत से ही हराया जा सकता है। हमारे यहां पहले की सरकारों की जो सोच रही, उसने देश को आगे नहीं बढ़ने दिया। मैं मानता हूं कि गरीब में इतना सामर्थ्य होता है कि वह गरीबी से लड़ सके और जीत सके। हमें उसे सपोर्ट करना होता है। उसे मूलभूत सुविधाएं देनी होती हैं। सिर्फ पांच सालों में 13 करोड़ से ज्यादा लोग गरीबी से बाहर आए हैं। यानी कि 13 करोड़ लोगों ने गरीबी के बैरियर को तोड़ा और देश के मिडिल क्लास में शामिल हुए हैं। 

परिवारवाद पर भी पीएम मोदी ने साधा निशाना
परिवारवाद पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि देश के आम लोगों को लगता था कि अगर वे किसी बड़े परिवार से नहीं जुड़ा है, तो उसके लिए सफल होने की संभावना काफी कम है। उन्होंने कहा, 'आपने कुछ सालों में देखा है कि अब आम नागरिक एम्पवार्ड फील करने लगा है। अब उसे इसकी चिंता नहीं होती कि उसे किसी ताकतवर आदमी के चक्कर लगाने होंगे और उसकी मदद लेनी होगी।' उन्होंने कहा कि वंशवाद और भाई-भतीजावाद भारत के विकास में वास्तविक बाधाएं हैं। हमने दिखाया है कि अच्छी अर्थव्यवस्था और अच्छी राजनीति एक साथ रह सकती हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें