DA Image
4 मार्च, 2021|5:56|IST

अगली स्टोरी

WhatsApp privacy policy पर दिल्ली हाईकोर्ट बोला- ऐप डाउनलोड करना नहीं अनिवार्य, अपनी इच्छा है

दिल्ली हाई कोर्ट ने व्हाट्सएप की गोपनियता नीति पर सुनवाई करते हुए कहा है कि अपने मोबाइल पर व्हाट्सएप डाउनलोड करना अनिवार्य नहीं है, यह स्वैच्छिक है।

 

व्हॉट्सएप की नई निजता नीति के खिलाफ  उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की गई थी। याचिका में व्हाट्सएप की नई निजता नीति को न सिर्फ करोड़ों लोगों के निजता के अधिकार का हनन बताया गया था, बल्कि इससे राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए भी खतरा होने का दावा किया गया था। अधिवक्ता चैतन्या रोहिल्ला ने उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दाखिल कर तत्काल प्रभाव से व्हॉट्सएप की नई निजता नीति पर रोक लगाने की मांग की थी।


याचिका में न्यायालय से व्हॉट्सएप द्वारा गोपनीयता नीति में किसी भी तरह का बदलाव करते समय लोगों के मौखिल और निजी अधिकारों का रक्षा करने और इसके किसी भी तरह की अनदेखी नहीं करने का निर्देश दिया है। अधिवक्ता रोहिल्ला ने याचिका में कहा है कि व्हॉट्सएप की नई नीति कंपनी को वास्तव में लोगों के 360डिग्री प्रोफइल यानी इसमें दिए गए सभी तरह की जानकारी लेने का अधिकार देती है।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:High court said on WhatsApp privacy policy - downloading the app is not mandatory it your wish