DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

EXCLUSIVE: रिपोर्ट से खुलासा, कुपोषण से देश में बच्चों का कद हो रहा कम

कद

कुपोषण के कारण देश में करीब 38 फीसदी बच्चों का कद नहीं बढ़ पा रहा है। इनमें से भी करीब 21 फीसदी बच्चों में यह समस्या गंभीर रूप धारण कर चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रलय की एक रिपोर्ट 'नेशनल फैमिली हैल्थ सर्वे-4' में यह तथ्य सामने आया है। विशेषज्ञों का कहना है कि कुपोषण की समस्या इतनी गंभीर है कि वह भावी नस्ल को प्रभावित कर सकती है।

2015-16 में हुआ सर्वे 

यह सर्वेक्षण 2015-16 के दौरान देश भर में हुआ था। रिपोर्ट के अनुसार पांच साल की उम्र के 38.5 फीसदी बच्चों की लंबाई उम्र के हिसाब से कम थी। छोटे कद वाले बच्चों की संख्या शहरों में 31 फीसदी और गांवों में 41 फीसदी है। इसके मद्देनजर एक अलग श्रेणी बनाई गई, जिसमें कद छोटा होने से अत्यधिक प्रभावित बच्चों को रखा गया है। ऐसे बच्चों की संख्या 21 फीसदी है। ऐसे बच्चों का गांवों एवं शहरों में प्रतिशत करीब-करीब एक जैसा ही है। 

पांच साल में 40 इंच

चिकित्सकीय मानकों के अनुरूप पांच साल के बच्चे का कद 40 इंच होना चाहिए। उम्र के हिसाब से कितना कद होना चाहिए इसके लिए डब्ल्यूएचओ की तरफ से चार्ट उपलब्ध है, जिसके आधार पर आकलन किया जाता है। इसमें जन्म के समय के बच्चे के कद को भी आधार बनाया जाता है।

आगे भी खतरा 

दिल्ली स्थित वर्धमान महावीर कॉलेज के प्रोफेसर जुगल किशोर के अनुसार ऐसे बच्चों की जब उम्र बढ़ती है और उनका खानपान बेहतर होता है तो वे जल्दी मोटापे की चपेट में आ जाते हैं। यदि वे कुपोषण से मुक्त नहीं हो पाते तो उन्हें बीमारियों का खतरा ज्यादा हो सकता है।

नस्ल खराब होगी 

स्वास्थ्य मंत्रलय में उप आयुक्त डॉ. अजय खेड़ा के अनुसार बचपन में यदि कद छोटा रहता है और आगे भी उनकी सेहत नहीं सुधरती है। ऐसे बच्चों के जब बच्चे होंगे तो आनुवांशिक प्रभाव से उनका कद भी छोटा हो सकता है। उनका कहना है कि पहले यह स्थिति ज्यादा गंभीर थी।
जापान एवं चीन के बच्चों के कद में सुधार हो रहा है। वहां छोटे कद के बच्चों की संख्या तीन-चार फीसदी के बीच होती है। पोषण अच्छा होने से इनकी नस्लें सुधर रही हैं।

ये भी पढ़ें: बिहार: शरद गुट ने छोटू भाई वसावा को JDU का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:height of children getting low due to malnutrition, says report