DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गर्म हवाओं के थपेड़ों से तनाव और बेचैनी कई गुना बढ़ेगी

                                                                                                                3                                                              biplov bhuyan ht photo

देश में जिस तेजी से कठोर गर्म हवाओं के थपेड़े बढ़ रहे हैं उससे तनाव और बेचैनी लोगों को कई गुना ज्यादा परेशान करेगी। आईआईटी गांधीनगर के शोध में खुलासा हुआ है कि पिछले 30 साल में लू के थपेड़ों की संख्या में भारी बढ़ोत्तरी हुई है। अनुमान है कि 2050 तक यह आठ गुना हो जाएगी, इसी तेजी से तनाव में भी इजाफा होगा।

अध्ययन के मुताबिक, हीट स्ट्रेस (शारीरिक तनाव) बढ़ने की एक वजह यह भी है कि तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ-साथ नमी भी बढ़ रही है। हमारे देश में गर्म हवाओं में नमी को गर्मी का आधार नहीं माना जाता है।  लेकिन हवाएं गर्म हों और उनमें नमी भी हो तो हीट स्ट्रेस से होने वाली असहजता बढ़ जाती है। एसोसिएट प्रोफेसर बिमल मिश्रा के नेतृत्व में सौरव मुखर्जी और रोहिनी कुमार के इस शोध के मुताबिक  1998, 1995 तथा 2012 में तीन सबसे खतरनाक गर्म हवाएं चलीं थीं।

आशंका

1971-2000 के बीच कठोर गर्म हवाएं चलने की महज तीन से नौ घटनाएं हुई थीं। 2001-2030 के बीच 18-30 बार ऐसा संभव 

दावा है कि 1986-2015 के वर्षों की तुलना में 2021-2050 के 30 वर्षों में भीषण गर्म हवाओं की आवृत्ति आठ गुना तक बढ़ बढ़ेगी।

असर

शोध में कहा गया है कि इस सदी के मध्य तक गर्म हवाओं से प्रभावित होने वाले लोगों की संख्या 15 गुना हो जाएगी। सदी के अंत तक 92 गुना लोग इससे परेशान होंगे।

उपाय

वैश्विक तापमान बढ़ोत्तरी को 1.5 डिग्री से नीचे रखना जरूरी। वन क्षेत्र बढ़ाना और शेल्टर का निर्माण करना होगा। दैनिक व्यवहार बदलने और आपातकालीन सेवा का विस्तार करना होगा

आफत

अरब सागर में कम दबाव की वजह से चक्रवाती तूफान ‘वायु’ का खतरा बढ़ गया है। मौसम विभाग के मुताबिक 13 जून को यह गुजरात तट से टकराएगा। सरकार ने अलर्ट जारी किया है।

राहत

दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार को बूंदाबांदी और धूल भरी हवाएं चलने से गर्मी से थोड़ी राहत मिली। मौसम विभाग के अनुसार, अगले चौबीस घंटे में धूल भरी आंधी के एक-दो दौर आ सकते हैं।

जानलेवा गर्मी के बीच धूल भरी आंधी से परेशानी 

राजधानी दिल्ली के लोगों को मंगलवार को जानलेवा गर्मी से तो मामूली राहत मिली है लेकिन धूल का हमला बढ़ गया है। सुबह के समय उठी धूल भरी आंधी के चलते दिल्ली की वायु गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में पहुंच गई है। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले चौबीस घंटे में धूल भरी आंधी के एक-दो दौर आ सकते हैं। इसके चलते तापमान में तो गिरावट आएगी लेकिन वातावरण की धूल लोगों को परेशान करेगी। दिल्ली वालों को मंगलवार गर्मी से थोड़ी राहत मिली। सुबह में दिल्ली में धूल उड़ाने वाली हवाएं चलने लगीं। कुछ हिस्सों में हल्के छींटे भी पड़े। मौसम विभाग के सफदरजंग केन्द्र में दिन का अधिकतम तापमान 44.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जो कि सामान्य से पांच डिग्री ज्यादा है। संभावना है कि गोवा और गुजरात में उठे चक्रवाती तूफान से दिल्ली वालों को गर्मी से कुछ राहत मिलेगी।  

अंतरिक्ष में दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए नई एजेंसी को मंजूरी

बिहार में 'चमकी' का कहर,11 दिन में 55 बच्चों की मौत, विशेष टीम पहुंची 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:heat waves will increase Stress and uneasiness manifold