DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिद्धू को मिल सकती है राहत: टीवी शो करना कानूनी आधार पर गलत नहीं

सिद्धू कॉमेडी शो मामला: कोर्ट से मिल सकती है राहत, कानूनी आधार पर गलत नहीं सिद्धू

नवजोत सिंह सिद्धू के मंत्री रहते हुए टीवी शो में काम करने के मामले में आज सुनवाई थी। पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने सुनवाई करते हुए कहा, 'नेताओं की मोरल पुलिसिंग नहीं की जा सकती है। हम उनपर कोड ऑफ कंडक्ट लागू नहीं कर सकते, लेकिन सार्वजनिक आचरण पर बात हो सकती है।'  

कोर्ट ने फिलहाल मामले की सुनवाई 2 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी है। कोर्ट ने कहा है कि अगली सुनवाई नैतिक आधार की जगह कानूनी आधार पर की जाएगी। इससे ऐसा माना जा रहा है कि सिद्धू को इस मामले में राहत मिल सकती है।

जस्टिस एस,एस सरन और जस्टिस दर्शन सिंह ने कहा कि नेताओं की मोरल पुलिसिंग नहीं की जा सकती है। जो लोग सार्वजनिक जीवन जीते हैं उन पर कई दायरे लागू होते हैं, लेकिन कानूनी रूप में वो दायरे कहां तक सही हैं ये मायने रखता है। मोरल पुलिसिंग कानूनी दायरे में नहीं आ सकती है। 

भारत से डरा चीन: IND की आर्थिक तरक्की को गंभीरता से ले रहा पड़ोसी देश

कोर्ट में कोई भी ऐसे प्रावधानों का जिक्र नहीं किया गया जिसके तहत सिद्धू के टीवी शो करने पर रोक लगाया जा सके। टीवी शो नहीं करने का कानून सिर्फ सरकारी कर्मचारियों पर ही लागू हो सकता है, मंत्रियों पर ऐसे कोई कानून लागू नहीं होते। 

बता दें कि सिद्धू ने मंत्री बनने के बाद कहा था कि वो शाम छह बजे के बाद कुछ भी करें इससे किसी को कोई मतलब नहीं होना चाहिए। उन्होंने मंत्री बनने के बाद भी कपिल शर्मा का शो जारी रखने की बात कही थी, जिसके बाद विपक्षी दलों के बीच उनका विरोध देखा जाने लगा था। 

FACTS: भारत के इन 5 राज्यों में सबसे ज्यादा होते हैं तलाक, जाने क्यों

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:HC says on petition against Sidhu’s role in Kapil Sharma show Can’t start moral policing politicians