DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

HC का पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर दखल देने से इनकार, कहा- यह सरकार का मसला

Petrol and Diesel under GST

दिल्ली हाईकोर्ट ने रोज-रोज बढ़ते पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर दखल देने से बुधवार को इनकार कर दिया। हाईकोर्ट ने कहा है कि यह सरकार का आर्थिक और नीतिगत मसला है। अदालतों को इसमें हस्क्षेप नहीं करना चाहिए।

चीफ जस्टिस राजेंद्र मेनन और जस्टिस वी. कामेश्वर राव की पीठ ने यह टिप्पणी करते हुए पेट्रोल-डीजल की कीमत तय करने के लिए केंद्र सरकार को आदेश देने की मांग को लेकर दाखिल जनहित याचिका को खारिज कर दिया। पीठ ने कहा कि वह सरकार के निर्णय पर हस्तक्षेप नहीं कर सकती क्योंकि इससे बड़े आर्थिक मुद्दे जुड़े हुए हैं। साथ ही, पीठ ने कहा कि सरकार पेट्रोल-डीजल की उचित मूल्य का निर्धारण कर सकती है, लेकिन हम उन्हें ऐसा करने के लिए आदेश नहीं दे सकते। 

सर्जिकल स्ट्राइकः तेंदुए के मल-मूत्र ने की थी जवानों की हिफाजत

हाईकोर्ट में रोज-रोज बढ़ते पेट्रोल-डीजल की कीमत तय करने की मांग को लेकर डिजाइनर पूजा महाजन ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी। उनकी ओर से अधिवक्ता ए. मैत्री ने याचिका में तेल के रोज बढ़ते कीमतों को चुनौती देते हुए केंद्र सरकार को इसे आवश्यक वस्तु मानते हुए उचित मूल्य निर्धारित करने के निर्देश देने की मांग की थी। 

अधिवक्ता मैत्री ने पीठ को बताया कि कर्नाटक चुनाव के दौरान 20 दिन तक पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि नहीं हुई, ऐसे में सरकार यह नहीं कह सकती कि ऐसा करना उनके नियंत्रण में नहीं है। हालांकि, हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ता के याचिका को बतौर प्रतिवेदन स्वीकार करते हुए इस मामले में सरकार को चार सप्ताह में उचित निर्णय लेने को कहा है।

फिल्मों में भी नहीं देखा होगा ऐसा खतरनाक स्टंट, पुलिस ने किया गिरफ्तार

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:HC refuses to interfere with petrol and diesel prices