haryana election 2019 way for congress will not be easy - हरियाणा: कांग्रेस की राह आसान नहीं, लगातार बढ़ रहा BJP का जनाधार DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरियाणा: कांग्रेस की राह आसान नहीं, लगातार बढ़ रहा BJP का जनाधार

हरियाणा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के लिए राह आसान नहीं है। भाजपा का जनाधार लगातार बढ़ रहा है। आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले पांच साल में कांग्रेस और भाजपा में वोट फीसदी का अंतर ढाई गुना बढ़ चुका है। बगावत और गुटबाजी से भी पार्टी को नुकसान होना लगभग तय माना जा रहा है। 

आंकड़ों पर नजर डालें तो 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के बीच वोट प्रतिशत का अंतर 11.85% था जो इस साल साल हुए लोकसभा चुनाव में यह अंतर 29.58% हो चुका है। हरियाणा कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पिछले पांच साल हमने हार से सबक लेते हुए अपनी गलतियां सुधारने के बजाए एक-दूसरे से लड़ने में गुजार दिए। यही वजह है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में पार्टी को इतने वोट मिले।

गुटबाजी पड़ सकती है भारी: प्रदेश कांग्रेस नेता मानते हैं चुनाव में टिकट बंटवारे को लेकर पार्टी पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक तंवर का इस्तीफा और कई प्रदेश नेताओं के चुनाव प्रचार से दूर रहने के ऐलान से प्रदर्शन पर सीधा असर पड़ेगा। इस्तीफा देने के बाद तंवर ने अपने समर्थकों को एकजुट करना शुरू कर दिया है। उन्होंने गुरुग्राम, झज्जर और रोहतक का दौरा कर अपने समर्थकों से मुलाकात की है। कांग्रेस मानती है कि चुनाव प्रचार के बीच इस तरह के घटनाक्रम से कार्यकर्ताओं का हौसला पस्त होता है, वहीं मतदाताओं में भी यह संदेश जाता है कि कांग्रेस चुनाव में जीत दर्ज करने की स्थिति में नहीं है।

हारे हुए मन से चुनाव लड़ रही कांग्रेस: शाहनवाज  

जींद। भाजपा प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने सोमवार को दावा किया कि हरियाणा में पार्टी की सरकार बनेगी। कांग्रेस हारे हुए मन से चुनाव लड़ रही है और उसके नेता टिकट लेने से मना कर रहे हैं। तंवर, निरुपम जैसे नेताओं को कांग्रेस पर विश्वास नहीं रहा तो जनता को क्या विश्वास होगा। 

'एक-दूसरे को काटने में लगे हैं कांग्रेसी'

कांग्रेस में मचे घमासान पर चुटकी लेते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सोमवार को कहा कि कांग्रेसी एक दूसरे की जड़ काटने में लगे हुए हैं। उनका एक पूर्व प्रदेश अध्यक्ष यह कहकर पार्टी को अलविदा कह गया है। अब वह कहता है कि कांग्रेस में जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है और पांच-पांच करोड़ में टिकटें बेची गई हैं। मनोहर लाल ने भूपेंद्र्र सिंह हुड्डा पर कटाक्ष किए। जब 370 हटाई गई तो भूपेंद्र सिंह भी बहती गंगा में हाथ धोने लगे और कहने लगे मैं भी इसका समर्थन करता हूं। उन्होंने कांग्रेस शासनकाल में इस प्रस्ताव को पास क्यों नहीं कराया। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:haryana election 2019 way for congress will not be easy