ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशजिनके पिता ने गिरा दी थी गुजरात में BJP की पहली सरकार, कांग्रेस ने अंतिम लिस्ट में बनाया उम्मीदवार, समझें- मायने

जिनके पिता ने गिरा दी थी गुजरात में BJP की पहली सरकार, कांग्रेस ने अंतिम लिस्ट में बनाया उम्मीदवार, समझें- मायने

महेंद्रसिंह वाघेला को कांग्रेस विधायक जाशु पटेल की जगह उम्मीदवार बनाया गया है, जिन्होंने 2019 में एक उपचुनाव के दौरान बयाड़ सीट जीती थी। 2012 में महेंद्रसिंह भी कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीत चुके हैं।

जिनके पिता ने गिरा दी थी गुजरात में BJP की पहली सरकार, कांग्रेस ने अंतिम लिस्ट में बनाया उम्मीदवार, समझें- मायने
Pramod Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 17 Nov 2022 05:01 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

गुजरात की मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने बुधवार को 37 उम्मीदवारों की अपनी अंतिम सूची जारी की है। इस लिट्स में पार्टी ने महेंद्रसिंह वाघेला को टिकट दिया है, जो एक पखवाड़े पहले ही भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे। महेंद्र सिंह बयाड़ सीट से चुनाव लड़ेंगे। वह पूर्व मुख्यमंत्री शंकर सिंह वाघेला के बेटे हैं। वह कांग्रेस के उन विधायकों में शामिल थे, जिन्होंने करीब पांच साल पहले अपने पिता के साथ पार्टी छोड़ दी थी।

महेंद्रसिंह वाघेला को कांग्रेस विधायक जाशु पटेल की जगह उम्मीदवार बनाया गया है, जिन्होंने 2019 में एक उपचुनाव के दौरान बयाड़ सीट जीती थी। 2012 में महेंद्रसिंह भी कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीत चुके हैं। इसके अलावा पालनपुर से महेश पटेल, गांधीनगर उत्तर से वीरेंद्र सिंह वाघेला, वड़ोदरा शहर से जी.परमार और कालोल से प्रभात सिंह को टिकट दिया गया है। 

महेंद्रसिंह वाघेला ने 2017 के राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार अहमट पटेल के खिलाफ क्रॉस वोटिंग की थी और उसके बाद अपने पिता शंकर सिंह वाघेला के साथ कांग्रेस छोड़ दी थी। बता दें कि 1995 में जब पहली बार गुजरात में बीजेपी की सरकार बनी और केशुभाई पटेल राज्य के मुख्यमंत्री बने थे तो सरकार बनने के छह महीने बाद ही शंकर सिंह वाघेला से केशुभाई पटेल की सरकार और बीजेपी के खिलाफ विद्रोह कर दिया था, जिसमें केशुभाई पटेल की कुर्सी चली गई थी। 

सियासी किस्सा: जब BJP के 48 विधायक ले उड़े थे शंकर सिंह वाघेला, कांग्रेसी CM ने की थी खूब सेवा सत्कार

वाघेला गुजरात की राजनीति के X फैक्टर रहे हैं और दोनों ही पार्टियां (बीजेपी और कांग्रेस) उन्हें अपने पाले में करने की कोशिश करती रही हैं। क्षत्रिय समाज से आने वाले शंकर सिंह वाघेला ने दोनों ही पार्टियों में लंबी पारी खेली है। वह राज्य की राजनीति में 'बापू' कहलाते हैं।

पार्टी ने 182 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव में कुल 179 प्रत्याशी घोषित किए हैं। शेष तीन सीटें सहयोगी राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के लिए छोड़ी हैं। एनसीपी उमरेठ (आनंद जिला), नरोदा (अहमदाबाद) और देवगढ़ बरिया (दाहोद जिला) में चुनाव लड़ेगी।  गुजरात की 182 विधानसभा सीटों के लिए एक और पांच दिसंबर को दो चरणों में वोट डाले जाएंगे। मतगणना आठ दिसंबर को होगी।