ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशहनुमान जी के झंडे के बाद कर्नाटक में हरे ध्वज पर विवाद, भाजपा भड़की, कहा- यह पाकिस्तान नहीं

हनुमान जी के झंडे के बाद कर्नाटक में हरे ध्वज पर विवाद, भाजपा भड़की, कहा- यह पाकिस्तान नहीं

कर्नाटक के मांड्या में हनुमान जी के झंडे को हटाने के बाद शुरू हुए विवाद के बीच शिवाजीनगर में हरा झंडा देखा गया। इससे भाजपा भड़क गई है। कहा कि यह पाकिस्तान नहीं।

हनुमान जी के झंडे के बाद कर्नाटक में हरे ध्वज पर विवाद, भाजपा भड़की, कहा- यह पाकिस्तान नहीं
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,बेंगलुरुTue, 30 Jan 2024 06:26 PM
ऐप पर पढ़ें

कर्नाटक के मांड्या में बीते दिनों हनुमान जी का ध्वज फहराने और फिर उसे हटाने को लेकर विवाद हुआ था। भाजपा ने आरोप लगाया था कि ग्राम पंचायत ने अपनी इच्छा से यह काम किया लेकिन, सिद्धारमैया सरकार के कहने पर पुलिस ने झंडे को हटा दिया। हालांकि खुद सीएम सामने आए और कहा कि भगवा झंडे की जगह तिरंगे की दो गई। अब बेंगलुरु के शिवाजीनगर इलाके में हरे रंग के झंडे को लेकर नया विवाद शुरू हो गया है। विपक्षी दल भाजपा ने मामले में तत्काल कार्रवाई की मांग की है।  

इस पूरे मामले पर भाजपा नेता बसनगौड़ा आर पाटिल (यतनाल) ने मंगलवार को एक्स पोस्ट साझा किया जिसमें कथित तौर पर शिवाजीनगर में हरा झंडा फहराया गया था। उन्होंने पोस्ट में बेंगलुरु पुलिस कमिश्नर को टैग करते हुए लिखा, “क्या किसी सार्वजनिक क्षेत्र में दुश्मन देश के रंग से मिलता-जुलता हरा झंडा फहराना हमारे ध्वज संहिता के विरुद्ध नहीं है? इसे तुरंत हटाएं और यहां राष्ट्रीय ध्वज फहराएं।' शिवाजीनगर भारत में है, पाकिस्तान में नहीं।''

यह नया विवाद ऐसे समय में आया है जब हाल ही में मांड्या घटना को लेकर कांग्रेस सरकार और विपक्षी भाजपा-जद(एस) के बीच राजनीतिक टकराव देखने को मिला था। मांड्या में हनुमान जी के झंडे को हटाकर पुलिस ने तिरंगा फहराया था। उधर, शिवाजीनगर में हरे झंडे को लेकर बीजेपी ने कांग्रेस सरकार पर सवाल उठाए। हंगामे के बीच हरे झंडे को हटाकर तिरंगा फहराया दिया गया।

मांड्या में क्या हुआ था?
मांड्या जिले के केरागोडु गांव में लोगों के एक समूह ने, जिन्हें ग्राम पंचायत ने राष्ट्रीय ध्वज फहराने की अनुमति दी थी, 108 फुट ऊंचा ध्वजस्तंभ खड़ा किया। हालांकि, उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज के बजाय हनुमान जी का ध्वज फहराया। इससे कुछ ग्रामीणों ने आपत्ति जताई। उन्होंने ग्राम पंचायत अधिकारियों ने हनुमान ध्वज हटाने का अनुरोध किया, जिसके बाद विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए। पुलिस ने मामले में हस्तक्षेप करते हुए हनुमान ध्वज को हटा दिया और तिरंगा फहराया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें