DA Image
30 अक्तूबर, 2020|10:26|IST

अगली स्टोरी

क्या कोरोना वैक्सीन के लिए रूस से टाइअप करेगा भारत? जानें स्वास्थ्य मंत्रालय ने क्या कहा

coronavirus vaccine

कोविड-19 टीके की खरीद एवं प्रबंधन के क्रियान्वयन और नैतिक पहलुओं पर विचार करने के लिए नीति आयोग के सदस्य डॉ वी के पॉल की अध्यक्षता में राष्ट्रीय विशेषज्ञ समिति बुधवार (12 अगस्त) को बैठक करेगी। यह समिति टीके के प्रबंधन, वितरण और कोल्ड चेन क्रियान्वयन और टीका देने वाले लोगों को प्रशिक्षित करने को प्राथमिकता देने के पहलुओं पर रणनीति तैयार करेगी। कोरोना वैक्सीन के लिए रूस से टाईअप करने से जुड़े एक सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार (11 अगस्त) को यह जानकारी दी।

मंत्रालय ने ट्वीट किया, “नीति आयोग के सदस्य, डॉ वी के पॉल की अध्यक्षता में टीका प्रशासन पर विशेषज्ञ समिति कोविड-19 टीके की खरीद एवं प्रबंधन के क्रियान्वयन एवं नैतिक पहलुओं पर विचार करने के लिए 12 अगस्त को बैठक करेगी।” मंत्रालय ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि टीका प्रबंधन पर बनी समिति राज्य सरकारों एवं टीका निर्माताओं समेत सभी हितधारकों के साथ काम करेगी।

 

गौरतलब है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार (11 अगस्त) को घोषणा की कि उनके देश ने कोरोना वायरस के खिलाफ पहला टीका विकसित कर लिया है जो कोविड-19 से निपटने में ''बहुत प्रभावी" ढंग से काम करता है और ''एक स्थायी रोग प्रतिरोधक क्षमता" का निर्माण करता है। इसके साथ ही उन्होंने खुलासा किया कि उनकी बेटियों में से एक को यह टीका पहले ही दिया जा चुका है। 'स्पूतनिक' न्यूज के अनुसार पुतिन ने यह दावा एक सरकारी बैठक में किया और कहा कि यह ''विश्व के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण कदम है।

पुतिन का दावा- रूस ने बना ली कोरोना की वैक्सीन, बेटी को लगवाया टीका

भारत में कोरोना वैक्सीन के लिए परीक्षण दूसरे चरण में 
आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने पिछले मंगलवार (4 अगस्त) को कहा था कि कोविड-19 के दो संभावित टीकों के मानवीय क्लिनिकल परीक्षण का पहला चरण पूरा हो गया है और परीक्षण दूसरे चरण में पहुंच चुका है। इस टीके को भारत बायोटेक, भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और जाइडस कैडिला लिमिटेड के साथ मिलकर स्वदेश में ही विकसित कर रहा है। पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा विकसित कोविड-19 के संभावित टीके के दूसरे और तीसरे चरण का मानवीय क्लिनिकल परीक्षण करने की अनुमति दी गई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:govt is planning to tie up with Russia to bring Coronavirus vaccine to India