Thursday, January 27, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशस्वास्थ्य कर्मचारियों में बढ़ रहे संक्रमण पर अब ज्यादा ध्यान देगी सरकार, राज्यों को दिए निर्देश

स्वास्थ्य कर्मचारियों में बढ़ रहे संक्रमण पर अब ज्यादा ध्यान देगी सरकार, राज्यों को दिए निर्देश

रिद्धिमा कौल,नई दिल्लीNootan Vaindel
Mon, 17 Aug 2020 06:47 AM
स्वास्थ्य कर्मचारियों में बढ़ रहे संक्रमण पर अब ज्यादा ध्यान देगी सरकार, राज्यों को दिए निर्देश

कोरोना वायरस के खिलाफ डट कर लड़ाई लड़ रहे स्वास्थ्य कर्मचारियों में भी कोरोना का संक्रमण फैल रहा है लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्वास्थ्य कर्मचारियों के बीच संक्रमण को कम करने की पहचान की है इस मामले के बारे में जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने कहा कि कोरोना से पस्त 10 राज्यों के कुछ जिलों में स्वास्थ्य कर्मचारियों के बीच 7 से 12 प्रतिशत संक्रमण के मामले देख जा रहे हैं, जबकि देश में बाकी स्वास्थ्य अधिकारियों के बीच यह आंकड़ा 5.5 से 6 प्रतिशत के बीच है

नाम नहीं बताने की शर्त पर एक स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, "कुछ राज्यों में स्वास्थ्य कर्मियों के बीच बढ़ रहे संक्रमण के पीछे कई कारण हैं जैसे इनफेक्श कंट्रोल प्रैक्टिस का ठीक से पालन न करना, पीपीई किट को सही तरीके से इस्तेमाल न करना व उसे नष्ट न करना हमने राज्यों को निर्देश दिए हैं कि वो इनकी पहचान करें और जल्दी ठीक करें। कुछ जिलों में दिक्कत ये है कि वहां बाहर से संक्रमण अस्पतालों मे लाया जा रहा है एक जगह एक स्वास्थ्य कर्मी जहां रहती हैं वहां से उन्हें संक्रमण हुआ। राज्यों को उन क्षेत्रों की पहचान करने और संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए उन क्षेत्रों में रोकथाम के उपायों को मजबूत करने के लिए निर्देशित किया गया है। "

यह भी पढ़ें-पटना एम्स में कोरोना वैक्सीन के ट्रायल का एक महीना पूरा, आई ये good news!

अधिकारी ने बताया कि टेस्ट लैब का कम प्रयोग, देश के मुकाबले राज्यों में टेस्ट की धीमी गति, टेस्ट के रिजल्टों का देरी से आना, अस्पतालों में देरी से रेफर करना भी कुछ ऐसे कारण हैं जो मरीज के जीवन को खतरे में डालते हैं कुछ जिलों को इन चीज़ों पर भी काम करने की जरूरत है उन्होंने ने कहा कि इनमें से कुछ जिलों में मरने वालों की ज्यादातर संख्या बुजुर्गों की है या उनकी जिन्हें पहले से ही कोई बीमारी थी, देरी से रेफरल करना पहले तीन दिनों में ही मौत का कारण बना है हमारा लक्ष्य कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या को कम करना है मंत्रालय अस्पतालों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेस मीटिंग आयोजित कर रहा है इससे पहले 2 सीरीज पूरी की जा चुकी हैं

सबसे बुरी तरह प्रभावित जिलों में से कुछ  जिनकी केंद्र सरकार निगरानी कर रही हैं इनमें कामरूप मेट्रो (असम), पटना (बिहार) रांची (झारखंड), अलाप्पुझा और तिरुवनंतपुरम (केरल), गंजम (ओडिशा), लखनऊ (उत्तर प्रदेश), 24 परगना उत्तर, हुगली , हावड़ा, कोलकाता और मालदह (पश्चिम बंगाल) शामिल हैं। 

epaper

संबंधित खबरें