DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धोखेबाज NRI पतियों की अब खैर नहीं, सरकार जल्द लाएगी बिल

नौ माह में 3,500 एनआरआई पत्नियों को छोड़ गए

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कहा कि अपनी पत्नी को छोड़ने वाले भगोड़े एनआरआई पति के मामलों से निबटने के लिए सरकार संसद के शीतकालीन सत्र में एक विधेयक लाएगी।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, हम संस्थानिक तंत्र की शुरुआत कर चुके हैं, जहां आपने देखा है कि ऐसे एनआरआई पतियों के 25 पासपोर्ट रद्द कर दिए गए हैं। हम इस सत्र में एक विधेयक लाने जा रहे हैं जिसमें उन पतियों के खिलाफ कुछ और प्रावधान किए गए हैं।

तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा के प्रचार अभियान में हिस्सा लेने हैदराबाद आयीं स्वराज अपनी पत्नियों को छोड़ने वाले अनिवासी भारतीय (एनआरआई) के बारे में एक सवाल का जवाब दे रही थीं। सुप्रीम कोर्ट ने अपनी पत्नी को छोड़ने वालों और दहेज के लिए उन्हें प्रताड़ित करने वाले एनआरआई की जरूरी गिरफ्तारी की मांग वाली एक याचिका पर 13 नवंबर को केंद्र का जवाब मांगा था। 

तेलंगाना केसीआर परिवार के लिए नहीं बना

सुषमा स्वराज ने तंज कसा कि तेलंगाना का गठन लोगों के लिए हुआ था न कि कार्यवाहक मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव के पांच सदस्यीय परिवार के लिए। उन्होंने कहा, जब तक भाजपा सत्ता में नहीं आती तब तक तेलंगाना का पुनर्निर्माण नहीं हो सकता। 

तेलंगाना के गठन को लेकर 2000 युवकों ने अपनी जान गंवा दीं। राज्य सरकार इनमें से केवल 400 लोगों की शहादत को मान्यता देती है। विदेश मंत्री ने कहा कि भाजपा ने तेलंगाना राज्य के गठन का पूरा समर्थन किया था। 

विधानसभा चुनाव 2018: मध्य प्रदेश में 74.61 प्रतिशत और मिजोरम में लगभग 75 प्रतिशत हुआ मतदान

सीबीआई विवादः हाईकोर्ट ने आलोक वर्मा को दी केस डायरी देखने की इजाजत

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:government will bring bill soon against fraudulent NRI husbands