google doodle google celebrates famous writer kamla das urf kamla suraiyya work - Google ने मशहूर लेखिका कमला दास सुरय्या को किया याद, बनाया डूडल DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Google ने मशहूर लेखिका कमला दास सुरय्या को किया याद, बनाया डूडल

google doodle

अंग्रेजी एवं मलयालम की प्रसिद्ध लेखिका कमला दास उर्फ कमला दास उर्फ कमला  सुरय्या पर डूडल बना सर्च इंजन गूगल ने आज उन्हें याद किया। कमला मलयालम में माधवी कुटटी नाम से लिखा करती थीं।

केरल के त्रिचूर जिले में 31 मार्च 1934 को एक हिंदू परिवार में जन्मी कमला ने 65 साल की उम्र में इस्लाम अपनाया और कमला सुरय्या नाम से लिखना शुरू किया। डूडल में वह दार्शनिक अंदाज में अपनी प्रिय डायरी और कलम के साथ दिखाई दे रही हैं। उनकी आंखों की गहराई और चमक उनके चेहरे पर एक अलग नूर ले आई है।    

अपने प्रशंसकों में 'अम्मी  के नाम से मशहूर कमला को उनकी आत्मकथा 'माई स्टोरी से खासी मकबूलियत हासिल हुई। किताब विवादों में रही और इसे राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी लोकप्रियता मिली। इसका 15 भाषाओं में अनुवाद किया गया।
        
कमला दास को उनकी शानदार लेखनी के लिए वर्ष 1984 में नोबेल पुरस्कार के लिए भी नामित किया गया था। पुणे के एक अस्पताल में 31 मई 2009 को 75 वर्ष की आयु में उनका निधन हो गया था।

ये भी पढ़ें: WHAT: ट्विटर ने घटाए अमिताभ बच्चन के फॉलोअर्स, नाराज बिग बी ने लिया बड़ा फैसला!

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:google doodle google celebrates famous writer kamla das urf kamla suraiyya work