DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संभावना: दीपावली तक 40 हजार के पार जा सकता है सोना

gold steal by bank official from locker

अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक तनाव और दुनिया भर में केंद्रीय बैंकों द्वारा ब्याज दरों में कमी से सोना दीपावली तक 40 हजार रुपये प्रति दस ग्राम के पार जा सकता है। इस बार दीपावली 27 अक्तूबर को पड़ रही है। दिल्ली में सोना शनिवार को 38 हजार 670 रुपये प्रति दस ग्राम पर था। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज पर अक्तूबर के वायदा कारोबार में भी सोना 38 हजार का स्तर छू चुका है।

विशेषज्ञों का कहना है कि वैश्विक स्तर पर आर्थिक और राजनीतिक अस्थिरता के कारण पीली धातु में लगातार तेजी आ रही है। एंजेल ब्रोकिंग के अनुज गुप्ता का कहना है कि अमेरिका-चीन में व्यापारिक रिश्तों में थोड़ी नरमी भले ही दिखी हो, लेकिन वैश्विक परिदृश्य नकारात्मक है, ऐसे में सोने की कीमत दीपावली के दौरान 40 हजार के स्तर को भी छू सकती है।

शेयर बाजारों में अस्थिरता और आर्थिक सुस्ती की आशंका में निवेशकों का सोने की ओर रुझान बढ़ रहा है। बॉन्ड बाजार में भी आर्थिक मंदी की चेतावनी दिख रही है। बड़े देशों के निर्यात में भी गिरावट आ रही है, जो शुभ संकेत नहीं है। लोग इसे मंदी का संकेत मान रहे हैं।

व्यापार युद्ध से बाजार लुढ़का, पीली धातु चमकी
निवेशक फर्म मार्गन स्टैनले का कहना है कि अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव तक व्यापार युद्ध और गहराता है और अमेरिका चीन के उत्पादों पर 25 फीसदी आयात शुल्क लगाने का फैसला लेता है तो उसके अगली तीन तिमाहियों में हम देख सकते हैं वैश्विक अर्थव्यवस्था मंदी की ओर बढ़ रही है।  अस्थिरता का दौर आने की आशंका में सोने और अन्य कीमती धातुओं की मांग बढ़ रही है और केंद्रीय बैंक भी तेजी से सोने का भंडार बढ़ा रहे हैं। तेजी का यह दौर लंबे समय तक रह सकता है। 

04 हजार रुपये से ज्यादा बढ़ा सोने का दाम बजट के बाद

इन वजहों से मजबूती
* अर्थव्यवस्था व बाजार में अनिश्चितता से सोना दुनिया में बना सुरक्षित निवेश।
* व्यापार युद्ध गहराने की आशंका से केंद्रीय बैंक सोने में निवेश बढ़ा रहे।
* यूरोपीय देशों में विकास दर लुढ़की भारत-चीन में विकास दर में गिरावट।
* मध्यपूर्व में तनाव से बाजार अस्थिर।

विकास दर में गिरावट
चीन में औद्योगिक उत्पादन 17 साल के निचले स्तर पर है। अमेरिका में कारोबार पर असर पड़ा है। यूरोपीय ताकत जर्मनी में विकास दर नकारात्मक रही है। ब्रिटेन ब्रेग्जिट की अनिश्चितता से उबर नहीं पाया है। भारत में विकास दर, औद्योगिक उत्पादन लगातार नीचे गिर रहा है। 

आयात शुल्क में कमी न होने के संकेत से भी बढ़ेगी कीमत
सोने की कीमतों के रिकॉर्ड ऊंचाई तक पहुंचने के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस पीली धातु के आयात शुल्क में कटौती की संभावना से साफ तौर पर इन्कार किया है। ऐसे में पीली धातु की कीमतों में और मजबूती मिल सकती है। हालांकि दाम इतनी ऊंचाई पर बने रहते हैं तो कारोबारियों को बिक्री में कमी आने की आशंका है। दीपावली और धनतेरस के दौरान सोना-चांदी की सबसे ज्यादा बिक्री होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Gold Price Likely To Touch Rs 40000 By Diwaly