ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ देशचांदनी चौक पर शॉपिंग के लिए निकलीं जर्मन विदेश मंत्री, पेटीएम से किया पेमेंट; देखें

चांदनी चौक पर शॉपिंग के लिए निकलीं जर्मन विदेश मंत्री, पेटीएम से किया पेमेंट; देखें

एकरमैन ने ट्वीट कर ये जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर जर्मन विदेश मंत्री अन्नालेना की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं जिनमें वे पुरानी दिल्ली के चांदनी चौक में खरीददारी का लुफ्त उठा रही हैं।

चांदनी चौक पर शॉपिंग के लिए निकलीं जर्मन विदेश मंत्री, पेटीएम से किया पेमेंट; देखें
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 06 Dec 2022 07:39 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारत की अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान, जर्मन विदेश मंत्री अन्नालेना बेयरबॉक पुरानी दिल्ली की सड़कों पर नजर आईं। उन्होंने इस दौरान चांदनी चौक में शॉपिंग भी की। भारत और भूटान में जर्मनी के राजदूत फिलिप एकरमैन ने ट्वीट कर ये जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर जर्मन विदेश मंत्री अन्नालेना की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं जिनमें वे पुरानी दिल्ली के चांदनी चौक में खरीददारी का लुफ्त उठा रही हैं। 

दिल्ली भ्रमण के दौरान उन्होंने चांदनी चौक स्थित ऐतिहासिक सीस गंज गुरुद्वारा में मत्था टेका। तस्वीरें शेयर करते हुए जर्मनी के राजदूत ने लिखा, ''विदेश मंत्री के दौरे का पहला दिन बहुत ज्यादा रोमांचक रहा। व्यस्त और सफल। भारत के विदेश मंत्री से अच्छी वार्ता हुई। सीस गंज गुरुद्वारा में दर्शन के बाद चांदनी चौक में शशि बंसल के साथ खरीदारी की और पेमेंट के लिए पेटीएम का इस्तेमाल किया।।''

जर्मन दूत द्वारा शेयर की गई तस्वीरों में, बेयरबॉक को सीस गंज गुरुद्वारे में कुछ महिलाओं के साथ और बाद में चांदनी चौक की एक स्थानीय दुकान पर भारतीय एथनिक कपड़ों की खरीददारी करते हुए देखा जा सकता है। जर्मन विदेश मंत्री ने अपने ट्विटर पर लिखा कि भारत की आधिकारिक यात्रा के दौरान ऐसा लगा जैसे वह "एक दोस्त से मिलने" जा रहीं हों। 

बता दें कि जर्मन विदेश मंत्री पांच दिसंबर को भारत पहुंची थीं। यहां उन्होंने दिल्ली में राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की। विदेश मंत्री ने दिल्ली की मेट्रो में सफर का भी आनंद लिया। इस बीच भारत और जर्मनी ने ऊर्जा, कारोबार, जलवायु परिवर्तन सहित द्विपक्षीय सहयोग को प्रगाढ़ करने एवं यूक्रेन संकट सहित वैश्विक मुद्दों पर सोमवार को विस्तृत चर्चा की तथा समग्र प्रवासन व आवाजाही साझेदारी समझौते पर हस्ताक्षर किए।