ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशपहले का भारत ऐसा नहीं था, कुछ करिए; गाजा में चल रहे युद्ध पर प्रियंका गांधी की मोदी सरकार से अपील

पहले का भारत ऐसा नहीं था, कुछ करिए; गाजा में चल रहे युद्ध पर प्रियंका गांधी की मोदी सरकार से अपील

गाजा पट्टी में एक बार फिर शुरू हुए कत्लेआम पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया है। मोदी सरकार को अपने संदेश में कहा कि पहले भारत ऐसा नहीं था, जो सही होता, उसके साथ खड़ा रहता था।

पहले का भारत ऐसा नहीं था, कुछ करिए; गाजा में चल रहे युद्ध पर प्रियंका गांधी की मोदी सरकार से अपील
Gaurav Kalaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 07 Dec 2023 11:26 AM
ऐप पर पढ़ें

सात दिन के युद्धविराम के बाद फिर से इजरायली सेना ने गाजा पट्टी पर कहर बरपाना शुरू कर दिया है। उसकी सेना हमास आतंकियों के ठिकानों को चुन-चुनकर नष्ट कर रही है। हमास द्वारा संचालित गाजा स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, भीषण कत्लेआम में मरने वालों की संख्या 16 हजार पहुंच गई है, जिसमें अधिकतर बच्चे और महिलाएं हैं। यह महाभयंकर युद्ध पर कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा का भी बयान सामने आया है। उन्होंने गाजा पट्टी में इजरायली सेना के हमले पर दुख जताया। कहा कि एक संपूर्ण देश का सफाया हो रहा है। इसमें भारत को कुछ करना चाहिए। प्रियंका ने मोदी सरकार को अपने संदेश में कहा है कि पहले का भारत ऐसा नहीं था। हमे कुछ करना चाहिए। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र भी गाजावासियों के लिए गहरी चिंता जता चुका है। बुधवार को ऐतिहासिक कदम उठाते हुए संस्था के प्रमुख एंटोनियो गुटेरस ने यहां अनुच्छेद 99 लागू किया है। 

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने गुरुवार को ट्वीट कर गाजा में मारे जा रहे लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने X पर लिखा, "युद्धविराम के बाद गाजा पर बेरहम बमबारी और अधिक बर्बरता के साथ जारी है। खाद्य आपूर्ति दुर्लभ है, चिकित्सा सुविधाएं नष्ट हो गई हैं और बुनियादी सुविधाएं बंद हो गई हैं। 16,000 निर्दोष नागरिक मारे गए हैं, जिनमें लगभग 10,000 बच्चे, 60 से अधिक पत्रकार और सैकड़ों चिकित्सा कर्मचारी शामिल हैं। एक संपूर्ण राष्ट्र का सफाया हो रहा है। ये हममें से बाकी लोगों की तरह ही सपने और उम्मीदें रखने वाले लोग हैं। हमारी आंखों के सामने ही उन्हें बेरहमी से मौत के घाट उतार दिया जा रहा है। कहां है हमारी मानवता?"

पहले का भारत ऐसा नहीं था
प्रियंका गांधी आगे लिखती हैं, "भारत हमेशा अंतरराष्ट्रीय मंच पर जो उचित है उसके लिए खड़ा रहा है। हमने दक्षिण अफ्रीका के रंगभेदी शासन के खिलाफ प्रतिबंधों के लिए लड़ाई लड़ी, हमने फिलिस्तीन में अपने भाइयों और बहनों को स्वतंत्रता के लिए उनके लंबे संघर्ष की शुरुआत से समर्थन दिया और अब हम पीछे खड़े हैं और कुछ नहीं कर रहे हैं। वहां एक ऐसा नरसंहार हो रहा है जो उन्हें धरती से मिटा देगा।"

प्रियंका गांधी ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सदस्य के रूप में यह भारत का कर्तव्य है कि वह जो सही है उसके लिए खड़ा हो। हमें जल्द से जल्द युद्धविराम सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करना चाहिए।

यूएन ने गाजा में लगाया अनुच्छेद 99
इससे पहले बुधवार को संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख एंटोनियो गुटेरस ने गाजा में चल रहे युद्ध की गंभीरता को देखते हुए यूएन चार्टर का अनुच्छेद 99 लागू किया। यह अनुच्छेद संयुक्त राष्ट्र का सबसे महत्वपूर्ण प्रावधान है। जिसके तहत वो किसी ऐसे  मामले को सुरक्षा परिषद के ध्यान में लाते हैं जो उनकी राय में अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा को खतरे में डाल सकता है। संयुक्त राष्ट्र के इतिहास में केवल नौ बार ही इस अनुच्छेद का इस्तेमाल किया गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें