ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News देशशीशम के संदूक में केसर की खुश्बू, रवानगी से पहले जी20 के मेहमानों को क्या-क्या गिफ्ट मिले

शीशम के संदूक में केसर की खुश्बू, रवानगी से पहले जी20 के मेहमानों को क्या-क्या गिफ्ट मिले

भारत मंडपम, जहां जी20 सम्मेलन का आयोजन किया गया वहां विदेशी मेहमान भारत की विशाल विरासत और संस्कृति धरोहर से रू-ब-रू हुए। वहीं सम्मेलन के खत्म हो जाने के बाद मेहमानों को क्या-क्या गिफ्ट मिले?

शीशम के संदूक में केसर की खुश्बू, रवानगी से पहले जी20 के मेहमानों को क्या-क्या गिफ्ट मिले
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 12 Sep 2023 02:28 PM
ऐप पर पढ़ें

जी20 शिखर सम्मेलन के दौरान दुनिया भर से आए विदेशी राष्ट्राध्यक्षों भारत की राजधानी दिल्ली में जोरदार स्वागत हुआ। अलग-अलग देशों के राष्ट्राध्यक्षों का इस दौरान खास ख्याल रखा है। भारत मंडपम, जहां जी20 सम्मेलन का आयोजन किया गया वहां विदेशी मेहमान भारत की विशाल विरासत और संस्कृति धरोहर से रू-ब-रू हुए। जब जी20 शिखर सम्मेलन खत्म हो गया, तो जाते-जाते खास यादों के तौर मेहमानों को भारत की तरफ से क्या मिला है।

रवानगी के दौरान जी20 के मेहमानों को हस्त निर्मित कलाकृतियों और भारतीय संस्कृति को उजागर करने वाले प्रोडक्ट से बनाए गिफ्ट्स दिए गए। गिफ्ट्स सदियों की परंपरा, भारतीय कलाकारों अद्वितीय कारीगरी का नमूना हैं। इन्हें कुशल कारीगरों के हाथों से सावधानीपूर्वक बनाया गया था। 

जी20 में शिरकत करने आए राष्ट्राध्यक्षों को भारत की तरफ से एक छूटी संदूक भेंट की गई। यह संदूक शीशम की लकड़ी से बनी है। जिन्हें कारीगरों ने अपने हाथों से तराशा है। अपनी मजबूती के लिए जानी जाने वाली शीशम की लकड़ी पर कारीगरों ने नक्काशियां उकेरीं हैं। इसके अलावा संदूक पर पीतल की एक पट्टी चढ़ी हुई है, जो इसे और भी खूबसूरत बना रही है।  
 
केसर बिखेरेगा कश्मीर की खुश्बू

भारतीय संस्कृतियों और सभ्यताओं में केसर को उसके अद्वितीय पाक और औषधीय तत्वों के लिए महत्व दिया गया है। यह प्रकृति का खजाना है, दुर्लभ भी है। कश्मीरी केसर विशिष्टता और असाधारण गुणवत्ता का सच्चा नूमना है। विदेशी मेहमानों को खास तौर पर ये केसर भी गिफ्ट के तौर पर दिए गए हैं।

दिल्ली में रही जमघट

जी20 समिट का दिल्ली में आयोजन किया गया है, जिसमें दुनिया के 20 महत्वपूर्ण आर्थिक राष्ट्रों के नेताओं ने आर्थिक सहयोग और ग्लोबल मुद्दों पर विचारविमर्श किया है। इस समिट की अध्यक्षता भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की। इसका आयोजन 9 से 10 सितंबर को हुआ था।

जी20 समिट के परिणामस्वरूप, विश्व के अधिकांश आर्थिक मुद्दे और ग्लोबल चुनौतियों के लिए नए समाधान बनाने का प्रयास किया गया है। यह समिट विश्व व्यापार, वाणिज्यिक संबंध, और भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए महत्वपूर्ण है। समिट के दौरान भारतीय प्रधानमंत्री ने विश्व आर्थिक समृद्धि के लिए भारत की प्रतिबद्धता को दोहराया और साथ ही भारतीय तकनीकी उन्नति और साइबर सुरक्षा में नवाचार के साथ आगे बढ़ने की बात की।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें