Former PM Manmohan Singh said There is no change in Pakistans attitude - पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा- पाकिस्तान के रवैये में कोई बदलाव नहीं DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा- पाकिस्तान के रवैये में कोई बदलाव नहीं

मनमोहन सिंह

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह ने मुबंई आंतकी हमले में मारे गए लोगों को याद करते हुए सोमवार को पाकिस्तान पर निशाना साधा। मनमोहन सिंह ने कहा कि पाकिस्तान के रवैये में कोई बदलाव नहीं आया है। कश्मीर में रोजाना होने वाले आतंकी हमले इसकी मिसाल है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी की किताब ‘फैबल्स ऑफ फ्रैक्चर्ड टाइम्स’ का विमोचन करते हुए डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा कि दुनिया में बहुत तेजी से बदलाव हुए हैं। दस साल पहले जो देश वैश्वीकरण की बात करते थे, वह देश अब रक्षात्मक हो गए हैं। ब्रिटेन का नाम लेते हुए उन्होंने कहा कि कई और देश भी यूरोपीय यूनियन से बाहर निकला चाहते हैं।

इस मौके पर पूर्व केंद्रीय मंत्री फारूख अब्दुल्ला ने कहा कि पिछले दस वर्षों में मुंबई जैसा आतंकी हमला इसलिए नहीं हुआ, क्योंकि स्थानीय लोग आतंकियों के बारे में जानकारी दे रहे हैं। कश्मीर में लोग सुरक्षा बलों को एकदम सटीक जानकारी मुहैया करा रहे हैं। राम मंदिर का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि ईश्वर हर व्यक्ति के अंदर है।

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी और नेशनल कांफ्रेस के साथ गठबंधन में सरकार बनाने की कोशिशों पर सीमा पार से निर्देश लेने के आरोपों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यह आरोप बेबुनियाद है। साथ ही उन्होंने जोड़ा कि सबसे पहले हमें मुसलमानों को शक की निगाह से देखना बंद करना होगा। कश्मीर भारत का हिस्सा है। पाकिस्तान अपने मकसद में सफल नहीं होगा। हालांकि, उन्होंने करतारपुर को पाक की तरफ से अच्छी शुरुआत बताया। 

किताब के विमोचन समारोह मे कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे। ऐसे में फारूख अब्दुल्ला कांग्रेस को नसीहत देने में भी पीछे नहीं रहे। राम मंदिर के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में फारूख अब्दुल्ला ने कहा कि कांग्रेस भाजपा का मुकाबला करने में इसलिए विफल रही, क्योंकि वह राज्यों में नेतृत्व विकसित नहीं कर पाई। उन्होंने कहा कि प्रदेशों में भाजपा का मुकाबला करने के लिए कांग्रेस को प्रदेश में नेतृत्व तैयार करना होगा।

जनता दल यूनाईटेड के महासचिव पवन वर्मा ने कहा कि पिछले दस वर्षों में हमने कभी अपनी तटीय सुरक्षा का कोई सर्वे नहीं किया है। हम नहीं जानते हैं कि हमारी समुद्री सीमाएं दस साल पहले के मुकाबले कितनी सुरक्षित है। साथ ही उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की नीति एकदम साफ है। वह आक्रामकता के साथ समय-समय पर तुष्टिकरण के छोटे-छोटे कदम उठाता रहता है। करतारपुर कॉरिडोर इसकी एक मिसाल है।

ट्रंप पर इमरान का पलटवार, बोले पाकिस्तान फिर से 'थोपा गया' युद्ध नहीं लड़ेगा

सीमा विवाद के जल्द समाधान के लिए भारत-चीन ने दिए रचनात्मक सुझाव

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Former PM Manmohan Singh said There is no change in Pakistans attitude