DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  फोर्ब्स इंडिया की सूची में ये महिलाएं शामिल, जानिए कौन हैं ये दिग्गज

देशफोर्ब्स इंडिया की सूची में ये महिलाएं शामिल, जानिए कौन हैं ये दिग्गज

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Guest1
Tue, 06 Mar 2018 06:58 PM
फोर्ब्स इंडिया की सूची में ये महिलाएं शामिल, जानिए कौन हैं ये दिग्गज

आठ मार्च को अंतराष्ट्रीय महिला दिवस है और इससे ठीक पहले फोर्ब्स इंडिया ने जारी किए अंक में देश में कारोबार के शिखर की ओर बढ़ती महिलाओं की सूची जारी की है। 'डब्ल्यू-पावर ट्रेलब्लेजर्स' नाम की इस सूची में फोर्ब्स ने व्यापार के क्षेत्र की शक्तिशाली महिलाओं को शामिल किया है। फोर्ब्स ने इन महिलाओं को ट्रेलब्लेजर्स कहा है, जिसका मतलब है कि ये महिला अपने-अपने क्षेत्र में कुछ अनोखा कर रही हैं। इन महिलाओं ने किसी नए या अलग आईडिया से अपनी शुरुआत की और आगे बढ़ीं।  

इस सूची में शामिल कुछ महिलाओं के बारे में जानें

1. अधुना भबानी 

अधुना भबानी की उम्र 50 वर्ष है। वे सैलून चेंन बीब्लंट की संस्थापक और डायरेक्टर हैं। उन्होंने अपना पहला सैलून दोस्तों के साथ मिलकर खोला था। इस सैलून को 1500 वर्ग फुट जगह में चार हेयर ड्रैसिंग कुर्सियों
के साथ शुरू किया गया था। आज भारत के 10 राज्यों में उनके 20 सैलून, मुंबई और बैंगलुरू में दो ट्रेनिंग इस्टिट्यूट, 29 हेयर केयर प्रोडक्ट्स भी हैं। इसके साथ ही उनकी एक अलग शाखा भी है, जो फिल्मों,
विज्ञापनों और फैशन की शूटिंग के काम को संभालती है।

2. अनु आचार्य    
अनु आचार्य 46 साल की हैं, जो 'मैपमायजीनोमी' की सीईओ हैं। इनकी कंपनी लोगों के जीन्स का ब्योरा रखकर, उन्हें स्वस्थ्य जीवन जीने में मदद करती है। 2030 तक वे आशा करती हैं कि उनकी कंपनी 100
मिलियन लोगों तक अपनी पहुंच बना लेगी और एक मिलियन लोगों की जान बचा पाएगी। 'मैपमायजीनोमी' जीन्स के क्षेत्र में इनका दूसरा स्टार्ट-अप है। इससे पहले वे 2000 में उन्होंने ओसिमम बायो सोल्यूशंस के
नाम से एक कंपनी शुरू की थी, जिसके बाद 2013 में इन्होंने 'मैपमायजीनोमी' की शुरुआत की। 
 
3. अनुप्रिया आचार्य
 अनुप्रिया आचार्य पब्लिसिस मीडिया की सीईओ हैं। अनुप्रिया मीडिया और एडवरटाइजिंग के क्षेत्र में लगभग 20 सालों से हैं। उनकी कंपनी आज दुनिया की बड़ी कंपनियों डाबर, ओप्पो, फीएट क्राइस्लर और सिटी बैंक
जैसे क्लाइंट्स को सुविधाएं मुहैया कराती है। कंपनी के कुछ नए कंपनियों को भी जोड़ा हैं, जिनमें विस्तारा, मैकडॉनल्डस, एचडीएफसी बैंक और एक्सपीडीया भी शामिल हैं।     

4. अरुणिमा पटेल
अरुणिमा पटेल को डाइग्नॉस्टिक फर्म आई जेनेटिक के जरिए मेडिकल टेस्टिंग में बड़ा बदलाव करने के लिए इस सूची में शामिल किया गया है। इनकी उम्र 39 साल है। संक्रमण का मरीजों में जल्दी पता लगा पाने
से मरीज की जिदंगूी बचाई जा सकती है। वहीं दूसरी ओर आम लेबोरेटरी में इस तरह के संक्रमण का पता लगाने में दो दिन तक का समय लग सकता है। इनकी कंपनी आई जेनेटिक संक्रमण का पता चार घंटों में
लगा लेती है। 

5. चिकी सरकार 
चिकी सरकार को उनके डिजिटल पब्लिकेशन जगरनॉट के लिए इस सूची में जगह दी गई है। जगरनॉट बुक्स भारत की पहली स्मार्टफोन पब्लिशर है। कंपनी की शुरुआत 2015 में चिकी सरकार और दुर्गा रघुनाथन,
जोकि नेटवर्क 18 डिजीटल के पूर्व सीईओ हैं ने की थी। जगरनॉट एप को एंड्रॉयड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर अब तक 10 लाख से ज्यादा डाउनलोड किया जा चुका है। 

6. डीना वाडिया और शिवप्रिया नंदा

डीना वाडिया और शिवप्रिया नंदा 'जे सागर एसोसिएट्स' के ज्वांइट मैनेजिंग पार्टनर हैं। डीना वाडिया और शिवप्रिया नंदा नेशनल लॉ फर्म 'जे सागर एसोसिएट्स' की पहली महिला ज्वांइट मैनेजिंग पार्टनर हैं। एक ऐसे
पेशे में जिसे मर्दाना माना जाता है में इनका चुना जाना एक सकारात्मक पहल है। 2016 में इन्हें इस पद के लिए चुना गया था।  

7. डॉ. कविता साईराम
डॉ. कविता साईराम एफआईबी-एसओएल टेक्नोलॉजिस की सह संस्थापक हैं। इनकी उम्र 40 साल है। इनकी कंपनी कृषि और स्वास्थ्य के क्षेत्र में नेनोफाइबर सामाधान मुहैया कराती हैं। पिछले साल दिसंबर में कविता
ओर उनके सह-संस्थापक अनंत श्याम रहेजा को भारत में नेशनल बायो उद्यमिता प्रतियोगिता में पहले पुरुस्कार से सम्मानित किया गया था।  

8. हेमलता अन्नामलाई
हेमलता अन्नामलाई एम्पियर व्हीकल्स प्राइवेट लिमिटेड की संस्थापक और सीईओ हैं। उन्होंने कंपनी की शुरुआत 2008 में की थी। इनकी कंपनी इलेक्ट्रिक साइकिल, स्कूटर के अलावा तिपहिया वाहन भी बनाती है। 
कोयम्बतूर स्थित इनकी कंपनी एक साल में लगभग 60,000 वाहन बनाती है। 

9. मालिनी अग्रवाल
मालिनी अग्रवाल मिस मालिनी एंटरटेनमेंट की संस्थापक और क्रिएटिव डायरेक्टर भी हैं। मालिनी 2008 के बाद से तीन साल तक एक पूरे दिन की नौकरी, एक रेडियो शो, अखबार में कॉलम और अपने ब्लॉग लिखती
थीं। इसके बाद उनके दोस्त माइक मेल्ली, जो अभी उनके पार्टनर भी हैं ने ब्लॉगिगं के जरिए व्यापार की संभावनाओं को समझा और मदद करने का फैसला लिया। इसके बाद मालिनी ने एक चैनल के डिजीटल कंटेट
हेड की नौकरी छोड़ अपना पूरा समय अपने ब्लॉग को देना शुरू कर दिया। 
    
10. मनीषा रायसिंघानिया

मनीषा रायसिंघानिया लॉजीलेक्स्ट सोल्यूशंस की सह संस्थापक और चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर हैं। वे कहती हैं कि भारत अपनी कुल जीडीपी का लगभग 13 प्रतिशत हिस्सा लॉजीस्टिक्स पर खर्च कर देता है इसकी
तुलना में विकसित देश इस पर केवल 8-10 प्रतिशत ही खर्च करते हैं। इस कंपनी की शुरुआत उन्होंने 2014 में की थी। 

11. नेहा बगारिया
नेहा बगारिया 'जॉब्स फॉर हर' की संस्थापक हैं। 'जॉब्स फॉर हर' एक ऑनलाइन पोर्टल है, जहां से महिलाओं को गर्भास्वथा के बाद दोबारा काम ढुढ़ने में मदद मिलती है। इनकी उम्र 36 सावल है। पिछले साल कंपनी
ने ऐसी महिलाओं जो दोबारा काम करना शुरू करना चाहती हैं के लिए कुछ खास सुविधाएं देना शुरू किया है। 
   
12. नेहा जुनेजा
नेहा जुनेजा ग्रीनवे ग्रामीण इंफ्रा के सह संस्थापक और चीफ एक्जीक्यूटीव ऑफीसर हैं। ग्रीनवे ग्रामीण इंफ्रा ग्रामीण जीवनशैली को सुधारने के लिए उत्पाद बनाती है। कंपनी की शुरुआत 2011 में की गई थी। कंपनी का
ग्रीनवे ग्रामीण स्टोव ग्रामीण ग्राहकों को पसंद आ रहा है। इस स्टोव की डिजाइन काफी आकर्षक है, इसमें इंधन के तौर पर लकड़ी, घास और एग्रो वेस्ट का इस्तेमाल होता है। मिट्टी के चुल्हे के मुकाबले ये 70 फीसदी
कम धुंआ फैलाता है। 

13. रश्मि डागा
रश्मि डागा 'फ्रेशमेन्यू' की संस्थापक और सीईओ हैं। 'फ्रेशमेन्यू' एक ऑनलाइन रेस्त्रां है, जिसकी शुरूआत रश्मि ने साल 2014 में की थी। इस रेस्त्रां को दिन भर में मोबाइल एप और वेबसाइट के जरिए लगभग
14000 ऑर्डर मिलते हैं। फ्रेशमेन्यू मुंबई, दिल्ली, गुरुग्राम और बैंगलुरू में काम करता है। यहां आने वाले औसतन ऑर्डर 320 रुपये के होते हैं। 

14. सुहानी मोहन 
सुहानी मोहन सरल डिजाइंस की को-फाउंडर हैं। सरल डिजाइंस की शुरुआत साल 2015 में हुई थी। 28 साल की सुहानी इस समय मुंबई के वर्ली में रहती हैं। महिलाओं की स्थिति को संवारने का बीड़ा उठाने के लिए
उतरीं। वह कम खर्च में सैनेटरी पैड बनवाती हैं। सुहानी ने सरल डिजाइंस की शुरुआत अपने को-फाउंडर आईआईटी मद्रास ग्रेजुएट मशीन डिजाइनर कार्तिक मेहता के साथ मिलकर की थी। साल 2011 में आईआईटी
मुंबई से ग्रेजुएशन करने के बाद उन्होंने डोएचे बैंक में इन्वेस्टमेंट बैंकर की नौकरी की थी। 

15. टीना सिंह

टीना सिंह महिन्द्रा फाइनेंस की चीफ डीजिटल ऑफिसर हैं। 43 साल की टीना ने बताया कि जॉब के दौरान सबसे महत्वपूर्ण बात यह होती है कि आपको सारी चीजें कैसे मैनेज करनी हैं। टीना ने बताया कि उन्होंने फैमिली के साथ रहने के लिए सिंगापुर और हॉन्ग-कॉन्ग की नौकरी को भी छोड़ दी। आज के समय में टीना एक बिजनेसवुमन हैं।

फोर्ब्स लिस्ट: क्रिप्टो करेंसी अमीरों की सूची, क्रिस लार्सन पहले स्थान पर

बयान जारी कर फोर्ब्स इंडिया ने कहा कि इन महिलाओं का चयन आंकिक आधार पर नहीं, बल्कि गुणात्मक के आधार पर किया गया है। इस सूची में तकनीक, कानून, बैंकिंग, बीमा, मीडिया, जैव-प्रौद्योगिकी और स्टार्ट-अप समेत कई क्षेत्रों में नई राह बनाने वाली, नई खोज करने वाली और इसी तरह की अन्य गुणवत्ता पर आधारित महिलाओं का चयन किया गया है।

संबंधित खबरें