ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशतमिलनाडु में अवैध शराब पीने से पांच ने गंवाई जान, 20 की हालत गंभीर; 200 लीटर शराब जब्त

तमिलनाडु में अवैध शराब पीने से पांच ने गंवाई जान, 20 की हालत गंभीर; 200 लीटर शराब जब्त

तमिलनाडु में संदिग्ध रूप से अवैध देशी शराब पीने से 20 से अधिक बीमार पड़े, कम से कम पांच की मौत हो गई है। विपक्ष ने इस घटना को लेकर डीएमके सरकार पर निशाना साधा है। मुख्यमंत्री ने जांच के आदेश दे दिए है

तमिलनाडु में अवैध शराब पीने से पांच ने गंवाई जान, 20 की हालत गंभीर; 200 लीटर शराब जब्त
liquor auction in punjab
Upendraभाषा,चेन्नईWed, 19 Jun 2024 10:58 PM
ऐप पर पढ़ें

तमिलनाडु के कल्लाकुरिचि जिले में संदिग्ध रूप से अवैध देसी शराब पीने से 20 से अधिक लोग बीमार पड़ गये तथा कम से कम पांच लोगों की मौत हो गयी। पुलिस ने इस मामले में के कुन्नुकुट्टी (49 वर्षीय) अवैध शराब विक्रेता को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को इसके यहां से करीब 200 लीटर अवैध शराब मिली है। जांच में सामने आया कि इस शराब में घातक 'मेथनॉल' मौजूद था। मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने इस घटना की जांच के लिए सीबी-सीआईडी जांच का आदेश दिया है। सरकार ने इस मामले में कल्लाकुरिची के जिलाधिकारी श्रवण कुमार जातावथ का ट्रांसफर कर दिया जबकि पुलिस अधीक्षक समेत दस पुलिसकर्मियोंको निलंबित कर दिया गया है।

विपक्ष के नेता इडापड्डी के पलानीस्वामी ने स्थानीय समाचारों का हवाला देते हुए संवाददाताओं से कहा कि अवैध शराब पीने के बाद करीब 40 लोगों को भर्ती कराया गया। उन्होंने कहा, '' जब से द्रमुक सरकार सत्ता में आयी है तब से अवैध शराब से मौतें होती जा रही हैं । मैं विधानसभा में भी यह मुद्दा उठाता रहा हूं और कार्रवाई की मांग करता रहा हूं।'' उन्होंने मांग की कि राज्य सरकार इस मुद्दे पर कठोर कार्रवाई करे। पुलिस के अनुसार 20 से अधिक लोगों को को कल्लाकुरिचि मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है जिन्होंने उल्टी आने और पेटदर्द होने की शिकायत की थी। सरकार के मुताबिक पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारियों की जांच के आधार पर संदेह है कि उन्होंने अवैध शराब (ताड़ी) पी होगी। उनमें जी प्रवीण कुमार (26), डी सुरेश(40), के शेकर (59) और दो अन्य की जान चली गयी। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है, इसकी रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण सामने आ पाएगा।

स्टालिन ने प्रभावित परिवारों को सभी सहायता प्रदान करने के लिए वरिष्ठ मंत्रियों --ई वी वेलु और मा सुब्रमण्यम को कल्लाकुरिची भेजा। एम एस प्रशांत और रजत चतुर्वेदी को क्रमश: कल्लाकुरिची जिले के नए जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के रूप में नियुक्त किया गया है।