अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उपलब्धि: देश का पहला पानी के भीतर काम करने वाला ड्रोन ‘आईरोवटुना’ तैयार

Symbolic Image

केरल के कोच्चि स्थित फर्म ने पानी के भीतर काम करने में सक्षम देश के पहले रोबोटिक ड्रोन को विकसित किया है। यह पानी के भीतर जहाजों और अन्य संरचनाओं का वास्तविक समय में वीडियो भेज सकता है। रोबोट को शुक्रवार को लांच किया गया।

रिमोट कंट्रोल की मदद से नियंत्रित किए जाने वाले इस ड्रोन को ‘आईरोवटुना’ नाम दिया गया है और इसका व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए उत्पादन किया जा रहा है। कंपनी ने शुक्रवार को पहला रोबोट डीआरडीओ के नेवल फिजिकल ओसियनोग्राफी लेबोरेटरी (एनपीओएल) को सौंपा।

कंपनी ने बताया कि इस ड्रोन का पहला ऑर्डर एनपीओएल ने दिया था। परियोजना को केरल स्टार्ट अप मिशन की विभिन्न योजनाओं के तहत मदद की गई है। यही वजह है कि केरल स्टार्ट अप मिशन के सीईओ डॉ. साजी गोपीनाथ ने स्वयं एनपीओएल के निदेशक एस. केदारनाथ सिनॉय को यह ड्रोन सौंपा।

150 मीटर की गहराई नापने में सक्षम
इस रोबोट को लॉन टी मथाई और पी कन्नप्पा पलानीप्पन ने विकसित किया है। यह पानी के भीतर 150 फीट तक सटीकता से काम करता है। इससे समुद्र में बिछाए गए केबल की जांच आदि करने में सहूलियत होगी, क्योंकि गोताखोरों के द्वारा निरीक्षण करने में अधिक खर्च आता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:first underwater drone Iroverutuna of our country ready