ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशमणिपुर सचिवालय के पास बिल्डिंग में भीषण आग, पास में ही है मुख्यमंत्री आवास

मणिपुर सचिवालय के पास बिल्डिंग में भीषण आग, पास में ही है मुख्यमंत्री आवास

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह के सरकारी बंगले के पास राज्य सचिवालय परिसर की एक इमारत में शनिवार शाम को भीषण आग लग गई। यह जानकारी पुलिस ने दी। दमकल की कम से कम तीन गाड़ियों को लगाया गया।

मणिपुर सचिवालय के पास बिल्डिंग में भीषण आग, पास में ही है मुख्यमंत्री आवास
fire at manipur secretariat near chief minister bungalow police trying to find the cause
Amit Kumarलाइव हिन्दुस्तान,इंफालSat, 15 Jun 2024 09:41 PM
ऐप पर पढ़ें

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बीरेन सिंह के सरकारी बंगले के पास राज्य सचिवालय परिसर की एक इमारत में शनिवार शाम को भीषण आग लग गई। यह जानकारी पुलिस ने दी। एक अधिकारी ने बताया कि आग बुझाने के लिए दमकल की कम से कम तीन गाड़ियों को लगाया गया है। उन्होंने बताया कि आग लगने का कारण अभी पता नहीं चल पाया है।

अधिकारियों ने बताया कि आग इंफाल के ओल्ड लम्बुलैन में स्थित एक खाली पड़े घर में लगी। पुलिस ने बताया कि यह खाली घर गोवा के पूर्व मुख्य सचिव स्वर्गीय थांगखोपाओ किपगेन का था। किपगेन की मृत्यु 3 मार्च 2005 को हुई थी और घर पर उनका परिवार रहता था। यह घर कुकी इन कॉम्प्लेक्स के बगल में स्थित है, जो इम्फाल के बाबूपारा में मणिपुर के मुख्यमंत्री के आवास के सामने है। यह घटना शनिवार शाम करीब 5:30 बजे हुई। मणिपुर में चल रहे संकट के फैलने के बाद से ही निवासी घर छोड़कर जा चुके थे। 

मणिपुर की अग्निशमन सेवाएं मौके पर पहुंची और आग बुझाई। चूंकि घर की छत गैल्वनाइज्ड टिन के साथ लकड़ी से बनी थी, इसलिए थौबल जिले से पहुंचे दल की मदद से अग्निशमन कर्मियों को इसे बुझाने में एक घंटे से अधिक समय लगा। मणिपुर अग्निशमन सेवा के अधिकारियों ने बताया कि चूंकि घर एक साल से ज्यादा समय से खाली पड़ा था, इसलिए आग बुझाना और उस पर काबू पाना मुश्किल था। उन्होंने बताया कि आग का स्रोत अभी तक पता नहीं चल पाया है। यह वीरान मकान, इंफाल के बाबूपारा स्थित नए मणिपुर सचिवालय कार्यालय भवन के ठीक पीछे स्थित है।

गौरतलब है कि पिछले साल मई में मणिपुर में मेइती और कुकी समुदायों के बीच हिंसा भड़क उठी थी। तब से अब तक करीब 200 लोग मारे जा चुके हैं, जबकि बड़े पैमाने पर आगजनी के बाद हजारों लोग विस्थापित हुए हैं। इस आगजनी में मकान और सरकारी इमारतें जलकर खाक हो गई हैं। पिछले कुछ दिनों में जिरीबाम से ताजा हिंसा की सूचना आई हैं।

मणिपुर के मुख्यमंत्री की सुरक्षा टीम पर उग्रवादियों का हमला

कुछ दिन पहले मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह की निजी सुरक्षा टीम पर संदिग्ध सशस्त्र उग्रवादियों ने कांगपोकपी जिले में घात लगाकर हमला किया जिससे एक सुरक्षाकर्मी घायल हो गया था। पुलिस ने कहा कि सुबह करीब 11.15 बजे मुख्यमंत्री की एक अग्रिम टीम जो हिंसाग्रस्त जिरीबाम के रास्ते में थी तभी न्यू कीथेलमनबी पुलिस थाना के तहत के. सिनम गांव के पास कुछ अज्ञात बदमाशों ने घात लगाकर हमला किया। घायल सुरक्षा कर्मी की पहचान मोइरांगथेम अजेश के रूप में हुई। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया।

पुलिस ने कहा कि टीम इम्फाल से जिरीबाम के लिए रवाना हो गई। मुख्यमंत्री का बाद में जिले का दौरा करने का कार्यक्रम था। संदिग्ध कुकी उग्रवादियों ने असम की सीमा से लगे जिले के विभिन्न स्थानों पर सिलसिलेवार हमले किए हैं और अब तक कूकी उग्रवादियों ने तीन पुलिस स्टेशनों, बड़ी संख्या में एक विशेष जातीय समूह के घरों को आग लगा दी है। मुख्यमंत्री ने सुरक्षा सलाहकार कुलदीप सिंह और पुलिस महानिदेशक (डीपीजी) मणिपुर से जिरीबाम की स्थिति की विस्तृत रिपोर्ट देने को भी कहा है।

(इनपुट एजेंसी)