DA Image
22 दिसंबर, 2020|10:13|IST

अगली स्टोरी

किसानों के ऐलान से बढ़ी दिल्ली की मुसीबत, दूध-सब्जी की हो सकती है किल्लत, सड़कों पर जाम झेलने को रहें तैयार

farmer protest  new trouble in front of delhiites everyday things including jams will be affected

नए कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों की ओर से दिल्ली के पांच प्रमुख एंट्री प्वाइंट को बंद करने का ऐलान राजधानी वासियों के लिए नई मुसिबत खड़ी कर सकता है। दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों ने रविवार को बुराड़ी पार्क जाने से इनकार कर दिया और कहा कि वह ओपन जेल है। किसान नेताओं ने कहा कि वो दिल्ली बॉर्डर पर तो आंदोलन करेंगे ही साथ में दिल्ली में एंट्री के पांच प्रमुख प्वाइंट को बंद करेंगे। 

हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि वो वो पांच प्रमुख प्वाइंट कौन से होंगे लेकिन यह तो साफ है कि अगर किसान अपने आंदोलन की इस नई रणनीति पर चलते हैं तो इसका असर दिल्ली में रहने वालों लोगों पर पड़ने वाला है। ऐसा इसलिए क्योंकि दिल्ली में खाने-पीने की अधिकतर चीजे (दुध, फल, सब्जी आदि) बाहर से आती हैं। ऐसे में अगले एक दो दिनो में दिल्ली वासियों के लिए समस्या पैदा हो सकती है।

किसानों ने रविवार को कहा कि वे सरकार से बातचीत को तैयार हैं लेकिन सिंघु और टीकरी बार्डर से हटकर प्रशासन द्वारा प्रदर्शन स्थल के रूप में चिह्नित बुराड़ी के मैदान में जाने सहित किसी भी शर्त को स्वीकार नहीं करेंगे। केंद्र द्वारा लागू तीन कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में विरोध प्रदर्शन करने आ रहे हजारों किसान एक और सर्द रात सड़क पर बिताने के साथ राष्ट्रीय राजधानी के सिंघु और टीकरी बॉर्डर पर रविवार को लगातार चौथे दिन जमे हुए हैं। वहीं, किसान नेता सरकार द्वारा प्रस्तावित रणनीति पर मंथन कर रहे हैं।

किन-किन चीजों पर पड़ेगा असर
- कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसान अगर दिल्ली के एंट्री प्वाइंट को बंद करते हैं तो दिल्ली सबसे पहले खाने-पीने की चीजों की किल्लत हो सकती है। खासकर मंडियों में हरी सब्जियां हरियाणा से ही आती हैं। ऐसे में अगर प्रमुख मार्ग बंद हुआ ता सब्जियों की किल्लत झेलनी पड़ सकती है।

- दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसान की नई रणनीति से पहले से और ज्यादा जाम का खतरा मंडराने लगा है। क्योंकि किसान अगर एंट्री प्वाइंट ही बंद कर देंगे तो लोगों की आवाजाही बिल्कुल ठप हो जाएगी। सबसे ज्यादा दिक्कत तो दिल्ली-जयपुर और हरियाणा जाने वाले हाईवे पर देखने को मिल सकता है।

- प्रदर्शन कर रहे किसानों के नए ऐलान से उन लोगों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है जो जॉब के लिए दिल्ली से गुड़गांव या फिर नोएडा के लिए सफर करते हैं। ऐसे में इन लोगों के लिए नई मुसीबत का सामना करना पड़ सकता है।

- राजधानी दिल्ली तीन-चार राज्यों से घिरा हुआ है। ऐसे में एक राज्य से दूसरे राज्य खासकर दिल्ली से जयपुर, हरियाणा से उत्तर प्रदेश, या फिर दूसरे राज्य में जाने वालों लोगों को भी परेशानी उठानी उठानी पड़ सकती है।

केंद्र सरकार ने नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों को एक बार फिर दिल्ली के बुराड़ी मैदान में जाने की अपील की और कहा कि एक बार तय किए गए स्थान पर पहुंचने के बाद केंद्रीय मंत्रियों का एक उच्च-स्तरीय दल राजधानी के विज्ञान भवन में उनसे बातचीत के लिए तैयार है। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला द्वारा शनिवार को 32 किसान संगठनों को भेजे गए पत्र में इस बात का जिक्र किया गया है। शनिवार को ही गृह मंत्री अमित शाह ने भी आंदोलनरत किसानों से वादा किया था कि बुराड़ी मैदान पहुंचने के बाद उनसे बातचीत की जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmer Protest: New trouble in front of Delhiites everyday things including fruit vegetables jams will be affected