DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Fact Check:क्या चंद्रयान 2 ने भेजी पृथ्वी की पहली फोटो?

 fact check

Fact Check: इसरो द्वारा चंद्रयान 2 के लॉन्च के बाद से कुछ फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। इन फोटोज में दावा किया जा रहा है कि यह फोटो चंद्रयान 2 द्वारा खींची गई हैं। लाइव हिन्दुस्तान ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इन फोटोज के दावे की सत्यता की जांच की। जानें क्या है इस फोटो की सच्चाई? क्या यह सच में चंद्रयान 2 द्वारा ली गई फोटो है या फिर यह फेक फोटोज हैं। 

Fact Check: क्या सच में बुजुर्ग महिला ने मेहनत कर इस महिला को बनाया इंस्पेक्टर

इन फोटो को इस कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है कि यह ‘चंद्रयान 2 द्वारा खींची गई पृथ्वी की पहली तस्वीर। कितनी मोहक तस्वीर है।’ 

 


सच क्या है?
इसरो ने चंद्रयान-2 को चांद के दक्षिणी ध्रुव पर भेजा है। इसका मकसद चांद पर जीवन की संभावनाओं को तलाशना है। वहीं इसरो चंद्रयान से जुड़ी हर जानकारी को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर शेयर कर रहा है और उसके ट्वीटर हैंडल में भी कोई फोटो शेयर नहीं की गई है जो चंद्रयान से ली गई हो। इसरो के ट्वीट के अनुसार चंद्रयान 2 को सफलतापूर्वक दूसरी कक्षा में प्रवेश करा दिया है।

fact check chandrayaan-2

जब लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने गगूल रिवर्स इमेज के जरिए इन फोटोज की सच्चाई पता लगाया तो पता चला कि यह फोटो द टेलीग्राफ में 26 फरवरी 2017 को प्रकाशित लेख में मिली। इसे इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के अंतरिक्ष यात्रियों द्वारा ली गई थी। 

 

fact check chandrayaan-2


दूसरी इमेज को सर्च करने पर पता चला कि यह एक एनीमेटेड वीडियो से लिया गया है। जिसका टाइटल 'लाइट ओवर द मॉर्निंग अर्थ' है। 

निष्कर्ष: लाइव हिन्दुस्तान के फैक्‍ट चेक में पाया गया कि जो फोटोज सोशल मीडिया पर यह कहकर वायरल की जा रही है कि वे चंद्रयान-2 द्वारा भेजी गई हैं, उनका इस मिशन से कोई संबंध नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:fact check picture of earth sent from chandrayaan 2 Know the reality