DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Exit Poll 2018: शिवराज ने कहा- हमें पूर्ण बहुमत मिलेगा

शिवराज सिंह चौहान (एचटी फोटो)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में भाजपा की सरकार बनाने का विश्वास जताते हुए कहा कि उनसे बड़ा ‘सर्वेयर’ कौन है। वह दिन-रात जनता के बीच रहते हैं। प्रदेश में भाजपा की सरकार बन रही है।

प्रदेश के उमरिया जिले में बांधवगढ़ बाघ अभयारण्य में परिवार के साथ अवकाश बिताने के बाद शनिवार की सुबह वहां से रवाना होने से पहले चौहान ने एग्जिट पोल के सर्वे के सवाल पर मीडिया से कहा, ‘मुझसे बड़ा सर्वेयर कौन है। दिन-रात जनता के बीच रहता हूं। प्रदेश में भाजपा की सरकार बन रही है।’

इसके बाद मुख्यमंत्री चौहान अपने परिवार के साथ दतिया पहुंचे। उन्होंने यहां पर प्रसिद्ध देवी शक्तिपीठ पीतांबरा पीठ के दर्शन किए। मंदिर में दर्शन करने के बाद उन्होंने कहा कि वह यहां माई पीतांबरा का आशीर्वाद लेने आए हैं। सिंह अपने परिवार के साथ विशेष विमान से दतिया आए। हवाई पट्टी से वह सीधे पीतांबरा पीठ मंदिर पहुंचे। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सुख-समृद्धि के लिए पीतांबरा माई से प्रार्थना की है। हालांकि उन्होंने यह दावा भी नारे के साथ कर दिया, ‘अबकी बार 200 पार’। इसके बाद वह राजधानी भोपाल के लिए रवाना हो गए।’  

मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ ने बढ़ाई धड़कनें

मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में नई सरकार बनाने के मुद्दे पर एक्जिट पोल बंटे हुए हैं। कुछ भाजपा की दोनों राज्यों में वापसी बता रहे है, जबकि कुछ कांग्रेस को सत्ता मिलती बता रहे हैं। कुछ ऐसे भी हैं जो दोनों दलों को स्पष्ट बहुमत से कुछ दूर बता रहे हैं, जिसमें छोटे दलों की भूमिका बढ़ सकती है। अगर किसी को बहुमत नहीं मिलता है तो मध्य प्रदेश में बसपा और छत्तीसगढ़ में बसपा व अजीत जोगी का गठबंधन नई सरकार में निर्णायक हो सकता है। राहत की बात है कि कुछ एग्जिट पोल के मुताबिक, राजस्थान की तरह डेढ़ दशक के शासन के बाद भी ये राज्य उससे पूरी तरह खिसक नहीं रहे हैं। उसकी दोनों राज्यों में सरकार फिर से बन भी सकती है। 

राजस्थान में सत्ता परिवर्तन का टेंड्र कायम रहेगा!

राजस्थान का एग्जिट पोल अभी तक के आम अनुमानों की तरह ही हैं और राज्य में हर बार चुनाव में सत्ता परिवर्तन का 25 साल पुराना ट्रेंड कायम रह सकता है। राजस्थान में शुरुआत से ही कांग्रेस को बढ़त मानी जा रही थी और एक्जिट पोल भी उसी का संकेत दे रहे हैं। कांग्रेस ने भी राजस्थान में सबसे ज्यादा दांव लगाया था। जहां मध्य प्रदेश में कांग्रेस के भावी मुख्यमंत्री पद के दावेदार चुनाव नहीं लड़े, वहीं राजस्थान में उसने दोनों दावेदारों को चुनाव लड़ाया और उसका लाभ मिलता भी दिख रहा है। 

प्रशांत किशोर से मिले रूडी, कहा- 2019 चुनाव के लिए तय करेंगे उम्मीदवार

2019 लोकसभा चुनाव के लिए कल हुंकार भरेंगे शिवपाल,पोस्टर से मुलायम गायब

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Exit Poll 2018 Shivraj said we get absolute majority