DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राहुल ताजपोशी: भावुक सोनिया ने कहा- इंदिरा और राजीव का बलिदान व्यर्थ न जाए इसलिए राजनीति में आयी, VIDEO

Sonia Gandhi

कांग्रेस अध्यक्ष का पद राहुल गांधी को सौंपने के बाद देश के लोगों के सामने जब सोनिया गांधी रुबरु हुई तो वह काफी भावुक नजर आयीं। उन्होंने कहा कि वह राजनीति में सिर्फ इसलिए आयी क्योंकि वह नहीं चाहती थीं कि राजीव गांधी और इंदिरा का बलियान यूं ही व्यर्थ चला जाए। सोनिया ने कहा कि वह देश के प्रति कर्तव्यों को समझते हुए राजनीति में आयी थी और जब तक वह अध्यक्ष पद पर रहीं सभी कार्यकर्ताओं ने उनका पूरा साथ दिया। सोनिया ने कहा कि वह साम्प्रदायिक ताकतों को रोकने के लिए कांग्रेस पार्टी की अध्यक्ष बनी थी। 

राजीव के साथ घूमकर जाना देश की चुनौती
सोनिया ने कहा कि जिस वक्त वह पार्टी अध्यक्ष की कमान अपने हाथों में ली थी उस वक्त देश के सिर्फ तीन राज्यों में ही कांग्रेस की सरकार थी। लेकिन, उन्होंने अपने पति के साथ देश घूमते वक्त यहां की चुनौतियों के बारे में भलीभांति जाना था।

इंदिरा ने बेटी की तरह रका
भावुक सोनिया ने अपने पुराने दिनों की याद करते हुए कहा कि जिस वक्त राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी उनसे उनका सहारा छिन चुका था। लेकिन, उनकी सास इंदिरा ने उन्हें बेटी की तरह रखा। उन्होंने कहा कि आज राहुल गांधी काफी मजबूत है। उन्हें ये मजबूती उनके ऊपर किए गए व्यक्तिगत हमलों ने बनाया है। 

संवैधानिक संस्थाओं पर हो रहे हमले
सोनिया ने मौजूदा सरकार को आड़े हाथों लेते हुए उस करारा हमला किया। सोनिया ने केन्द्र सरकार पर परोक्ष तौर पर हमला करते हुए यह आरोप लगाया कि आज संवैधानिक संस्थाओं पर हमले किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा लेकिन इन सब से ना ही हम डरेंगे और ना ही झुकेंगे।
ये भी पढ़ें: राहुल की ताजपोश: जब इंदिरा की हत्या हुई तो मुझे मां खोने का गम हुआ-सोनिया गांधी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Emotional Sonia Gandhi says she cares by Indira Gandhi as daughter