DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  कोरोना से जंग के लिए Eli Lilly की एंटीबॉडी दवाओं को भारत में आपात उपयोग की मंजूरी

देशकोरोना से जंग के लिए Eli Lilly की एंटीबॉडी दवाओं को भारत में आपात उपयोग की मंजूरी

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mrinal Sinha
Tue, 01 Jun 2021 02:53 PM
कोरोना से जंग के लिए Eli Lilly की एंटीबॉडी दवाओं को भारत में आपात उपयोग की मंजूरी

दवा कंपनी एली लिली (Eli Lilly) ने मंगलवार को बताया कि उसे कोरोना वायरस बीमारी (कोविड -19) के इलाज के लिए भारत में अपनी एंटीबॉडी दवाओं के आपातकालीन उपयोग की अनुमति मिल गई है।  भारत में हल्के से लेकर मोडरेट तक के कोविड -19 के रोगियों के इलाज के लिए bamlanivimab 700mg और etesevimab 1,400mg के कॉम्बिनेशन को अनुमति दी गई है।

लिली की इंडिया सबकॉन्टिनेंट की मैनेजिंग डायरेक्टर लूका विसीनी ने कहा “हमें खुशी है कि हमारे पास भारत के स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए एक और उपचार विकल्प है। लिली भारत और दुनिया भर में कोविड-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई में योगदान देने के लिए प्रतिबद्ध है। हम यह आकलन और मूल्यांकन करना जारी रखेंगे कि हमारे मौजूदा पोर्टफोलियो और चल रहे शोध से कोविड -19 के रोगियों को कैसे फायदा हो सकता है”।

गौरतलब है कि bamlanivimab 700mg और etesevimab 1,400mg को एक साथ इंजेक्शन के माध्यम से कोरोना संक्रमित बड़ों और बच्चों (12 वर्ष और उससे अधिक उम्र के, कम से कम 40 किलोग्राम वजन वाले) को दिया  जा सकता है। इसके अलावा कंपनी के बयान के अनुसार, लिली भारत सरकार और नियामक अधिकारियों के साथ बामलानिविमाब और एटेसेविमैब को दान करने के लिए भी बातचीत की प्रक्रिया में है ताकि कोविड-19 के रोगियों के लिए दवा की पहुंच में तेजी लाई जा सके।

कौन ले सकता है ये इंजेक्शन?

कंपनी के अनुसार इस इंजेक्शन को लेने के पात्र रोगियों के पास कोरोना के RT-PCR टेस्ट की पॉजिटिव रिपोर्ट होनी चाहिए। अस्पताल में भर्ती गंभीर मरीजों को ये इंजेक्शन दिया जाएगा। हालांकि संक्रमित ऑक्सीजन सपोर्ट पर नहीं होना चाहिए। 

संबंधित खबरें