DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   देश  ›  चुनाव रुझान: हरियाणा में BJP या कांग्रेस करेगी 'राज', इसकी 'चाबी' हो सकती है JJP के पास

देश चुनाव रुझान: हरियाणा में BJP या कांग्रेस करेगी 'राज', इसकी 'चाबी' हो सकती है JJP के पास

नई दिल्ली, लाइव हिन्दुस्तान टीमPublished By: Arun
Thu, 24 Oct 2019 11:20 AM
 चुनाव रुझान: हरियाणा में BJP या कांग्रेस करेगी 'राज', इसकी 'चाबी' हो सकती है JJP के पास

हरियाणा की 90 सीटों वाली विधानसभा चुनाव की गुरुवार को हो रही मतगणना में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के बीच आंख मिचौली का खेल जा रही है। शुरुआती रुझानों में कांग्रेस और बीजेपी के बीच कांटे की टक्कर दिखाई दे रही है। वहीं जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) किंगमेकर बन सकती है। 

सुबह 11 बजे तक के रुझानों के अनुसार, बीजेपी 41 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है। जबकि 2014 के विधानसभा चुनाव में वह 47 सीटों पर जीत हासिल की थी। वहीं कांग्रेस 34 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है जबकि 2014 के विधानसभा चुनाव में वह 15 सीटों पर जीत हासिल की थी। जेजेपी सात सीटों पर आगे चल रही है। अगर हरियाणा में बीजेपी और कांग्रेस में कोई भी अगर 46 के बहुमत के आंकड़े को नहीं छू पाता है तो उसे सरकार बनाने के लिए जेजेपी का सहारा लेना पड़ेगा। ऐसे में जेजेपी हरियाणा में किंगमेकर साबित हो सकती है। अभी ये रुझान है इसलिए पूरे नतीजे आने पर असल तस्वीर साफ हो सकेगी। 

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: BJP और Congress गठबंधन का क्या है हाल,जानें

हरियाणा विधानसभा के चुनाव मैदान में उतरे  कई दिग्गजों समेत 1169 उम्मीदवारों की राजनीतिक किस्मत का फैसला होना है। मतगणना के लिये राज्य में 59 स्थानों पर 91 मतगणना केंद्र बनाए गये हैं। चुनाव परिणाम दोपहर 12 बजे तक आने शुरू हो जाएंगे। राज्य के कुल 1,83,90,525 मतदाताओं में से 68.31 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर उम्मीदवारों की राजनीतिक किस्मत इवीएम में लॉक कर दी थी। 

इस चुनाव में मुख्य  रूप से मुकाबला सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और विपक्षी कांग्रेस के बीच  देखा जा रहा है। ये दोनों दल सभी 90-90 सीटों पर चुनाव लड़ा था। वर्ष 2014 के चुनावों में 19 सीटें जीत कर दूसरे नम्बर पर रही इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) इस बार चुनावों तक पहुंचते दोफाड़ हो गई इसमें से जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) का जन्म हुआ। इनेलो और जजपा कुछ सीटों पर  मुकाबले को अवश्य ही त्रिकोणीय बना सकती हैं। बहुजन समाज पार्टी (बसपा), आम आदमी पार्टी (आप), स्वराज इंडिया, लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी (लोसुपा) ने भी कुछ-कुछ सीटों पर अपने उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतारे हैं।

वर्ष 2014 के विधानसभा चुनावों में भाजपा 47, इनेलो 19, कांग्रेस 15, शिरोमणि अकाली दल  और बसपा एक-एक, हरियाणा जनहित कांग्रेस दो तथा पांच सीटों पर निर्दलीय विजयी रहे थे। हजकां का बाद में कांग्रेस में विलय हो गया था। वहीं पांच साल का कार्यकाल समाप्त होते होते इनेलो भी बिखर गई। इसके कुछ विधायक और नेता भाजपा, कांग्रेस और जजपा में चले गये।

विधानसभा चुनाव रुझान: हरियाणा से कांग्रेस के लिए अच्छी खबर

इस चुनाव में मुख्य उम्मीदवारों में सत्तारूढ़ भाजपा की ओर से राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (करनाल), उनके कैबिनेट सहयोगी रामविलास शर्मा (महेंद्रगढ़), कैप्टन अभिमन्यु (नारनौंद), ओमप्रकाश धनकड़ (बादली), अनिल विज (अम्बाला), कविता जैन (सोनीपत), कृष्णलाल पंवार (इसराना), कर्णदेव  कम्बोज (रादौर), प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला (टोहाना), विधानसभा अध्यक्ष कंवलपाल गुर्जर (जगाधरी), ओलम्पियन संदीप सिंह (पिहोवा), योगेश्वर दत्त (बरौदा), बबीता फोगाट (दादरी), कांग्रेस की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा (गढ़ी सांपला किलोई), रणदीप सिंह सुरजेवाला (कैथल),  पूर्व विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप शर्मा (गन्नौर) और रघुबीर सिंह कादियान(बेरी), किरण चौधरी (तोशाम), गीता भुक्कल (झज्जर), कर्ण सिंह दलाल (पलवल) और कुलदीप सिंह बिश्नोई (आदमपुर), इनेलो के अभय सिंह चौटाला  (ऐलनाबाद) और जजपा के दुष्यंत चौटाला (उचाना), दिग्विजय चौटाला (सिरसा) और नैना चौटाला (बाढड़ा) हैं।        

संबंधित खबरें