DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चुनाव आयोग ने किया साफ, वीवीपैट मशीनों से ही होंगे लोकसभा चुनाव

वीवीपैट मशीन

चुनाव आयोग ने वीवीपैट मशीनों को लेकर उठ रहे सवालों को खारिज करते हुए बुधवार को कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव वीपीपैट मशीनों के जरिये ही कराए जाएंगे। आयोग ने कहा कि इस साल नवंबर तक सभी 16.15 लाख वीवीपैट युक्त मशीनें उपलब्ध हो जाएंगी।   
कुछ मीडिया रिपोर्ट में कहा गया था कि अब तक महज 22 फीसदी वीवीपैट ही आयोग के पास पहुंच पाई हैं। इस पर स्पष्टीकरण देते हुए आयोग ने कहा कि सभी मशीनों की आपूर्ति इस साल 30 सितंबर तक हो जानी थी। लेकिन आयोग के तकनीकी विशेषज्ञों की समिति के सुझाव पर मशीनों में कुछ जरूरी सुधार शामिल किये जाने के कारण इसमें थोड़ा विलंब होगा। 

आयोग ने इसके बावजूद नवंबर 2018 में चुनाव पूर्व तैयारियों को पूरा करने की समयसीमा पूरी होने के पहले इन मशीनों की आपूर्ति कर दिये जाने का विश्वास व्यक्त किया। आयोग द्वारा जारी आधिकारिक बयान के अनुसार, सार्वजनिक क्षेत्र की बेंगलुरु स्थित कंपनी भारत इलेक्ट्रॉनिक लिमिटेड (बीईएल) और हैदराबाद स्थित इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (ईसीआईएल) को मई 2017 में 16.15 लाख मशीनें बनाने की जिम्मेदारी दी थी। इनमें से 5.88 लाख मशीनें (बीईएल 4.36 लाख, ईसीआईएल 1.52 लाख) अब तक मिल गई हैं। यह कुल आपूर्ति का 36 प्रतिशत है। 

विसनगर दंगा केसः हार्दिक पटेल और उनके साथियों को दो साल की कैद

नाबालिग दोस्त से 5 साल तक बनाया संबंध, गर्भवती हुई तो थाने पहुंचे घरवाले

उपचुनाव भी वीपीपैट से
आयोग ने कहा कि दोनों कंपनियों ने शेष 10.27 लाख मशीनों का निर्माण और सभी राज्यों को इनकी आपूर्ति इस साल नवंबर से पहले करने के लिये आश्वस्त किया है। इसके आधार पर आयोग ने भविष्य में लोकसभा के साथ विधानसभाओं के उपचुनाव शतप्रतिशत वीवीपैट युक्त ईवीएम से कराने की प्रतिबद्धता व्यक्त की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:election commission cleared that 2019 loksabha election will be conducted with vvpat machines