ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशमृत्यु से जीवन खींचा है... एकनाथ शिंदे ने कविता से लूटी महफिल, ध्यान से सुनते रहे मोदीो

मृत्यु से जीवन खींचा है... एकनाथ शिंदे ने कविता से लूटी महफिल, ध्यान से सुनते रहे मोदीो

महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने एनडीए के संसदीय दल की मीटिंग में एक कविता सुनाई। उनकी कविता नरेंद्र मोदी पर थी, जिसकी लोगों ने खूब सराहना की। मोदी भी ध्यान से एकनाथ शिंदे को सुनते नजर आए।

मृत्यु से जीवन खींचा है... एकनाथ शिंदे ने कविता से लूटी महफिल, ध्यान से सुनते रहे मोदीो
Surya Prakashलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 07 Jun 2024 02:41 PM
ऐप पर पढ़ें

नरेंद्र मोदी तीसरी बार देश के प्रधानमंत्री बनेंगे। एनडीए के संसदीय दल की मीटिंग में उनके नाम पर मुहर लग गई है। उनके नाम का प्रस्ताव राजनाथ सिंह ने रखा, जिसका अनुमोदन पार्टी से नितिन गडकरी, अमित शाह ने किया। इसके अलावा गठबंधन सहयोगियों की तरफ से नीतीश कुमार, चंद्रबाबू नायडू और एकनाथ शिंदे जैसे कई नेताओं ने नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए प्रस्ताव को मंजूरी दी। इस दौरान महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने अपनी एक कविता से महफिल लूट ली। उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ करते हुए कहा कि वह जमीन से उठकर यहां तक आए हैं और सबके दर्द को समझते हैं।

एकनाथ शिंदे ने कहा कि लोगों ने विकास को महत्व दिया है। विपक्ष के लोग सिर्फ राजनीति करते थे, उन्हें घर पर बिठा दिया है। एकनाथ शिंदे ने कहा कि बीते 10 सालों के काम में वह देश को बहुत आगे ले गए हैं। एकनाथ शिंदे के बाद अजित पवार ने भी नरेंद्र मोदी के नाम का अनुमोदन किया और कहा कि उनका तीसरी बार पीएम बनना गर्व की बात होगी। उन्होंने कहा कि इस मौके पर मैं पीएम मोदी के लिए एक कविता की 4 पंक्तियां दोहराना चाहता हूं।

मैं उस माटी का वृक्ष नहीं, जिसे नदियों ने सींचा है,
बंजर माटी में पलकर मैंने, मृत्यु से जीवन खींचा है।
मैं पत्थर पर लिखी इबारत हूं, शीशे से कब तक तोड़ोगे।
मिटने वाला मैं नाम नहीं, तुम मुझको कब तक रोकोगे।

एकनाथ शिंदे की कविता को पीएम मोदी भी गंभीरता से सुनते दिखाई दिए। गौरतलब है कि इस दौरान नीतीश कुमार ने भी जमकर मोदी की तारीफ की। उन्होंने कहा कि इस बार कुछ लोग इधर-उधर कुछ सीटें जीत गए हैं। हमें भरोसा है कि अगली बार वहां भी आप उन्हें हरा देंगे। उन्होंने कहा कि आपके कार्यकाल में खूब काम हुआ है। उम्मीद है कि आगे भी देश और बिहार के विकास में आप फैसले लेते रहेंगे।