अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीट 2018: इस साल एमबीबीएस में आठ हजार सीटें कम हुईं

एमसीआई

इस साल नीट पास करने वाले छात्रों को एमबीबीएस में प्रवेश के लिए ज्यादा कड़ी प्रतियोगिता का सामना करना पड़ेगा। दरअसल, पिछले साल के मुकाबले इस साल एमबीबीएस की सीटों की संख्या में आठ हजार की भारी भरकम कमी आ गई है। बड़ी संख्या में पुराने कॉलेजों का नवीनीकरण न होने और उसकी तुलना में काफी कम संख्या में नई सीटों के सृजन के चलते यह कमी आई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) की अनुशंसा पर इस साल 82 मेडिकल कॉलेजों को एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए अनुमति नहीं दी गई है। इन कॉलेजों पर नए प्रवेश में रोक की वजह से इस साल 10480 एमबीबीएस की सीटें खत्म हो गई हैं। वहीं, एमसीआई ने 17 नए कॉलेजों को अनुमति देने और सात कॉलेजों में सीट वृद्धि करने की अनुशंसा स्वास्थ्य मंत्रालय से की है। इसकी वजह से क्रमश: 1950 सीटों और 380 सीटों का इजाफा हो रहा है। हालांकि दोनों को मिलाकर भी महज 2330 सीटों का ही इजाफा हो रहा है। इस तरह इस साल एमबीबीएस की सीटों में 8150 सीटों की कमी रहेगी। 

मालूम हो कि पिछले साल नीट में करीब 53455 एमबीबीएस की सीटें मौजूद थीं। सीटों में इतनी संख्या में कमी के सवाल पर मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मेडिकल शिक्षा का स्तर बनाए रखने का जिम्मा एमसीआई के पास है। हमने एमसीआई की अनुशंसा पर ही कदम उठाया है। 

सीटों की स्थिति 
53455 एमबीबीएस की सीटें थी पिछले साल नीट में
10480 सीटें कम हुईं कॉलेजों का नवीनीकरण न होने से
2330 सीटें ही बढ़ीं नए कॉलेजों और सीटों में वृद्धि के चलते

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:eight thousand seats were reduced in MBBS