ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News देशफैल गया था डर, कुछ छात्र पहुंच गए कोर्ट; NEET पेपर लीक केस पर क्या-क्या बोले शिक्षा मंत्री

फैल गया था डर, कुछ छात्र पहुंच गए कोर्ट; NEET पेपर लीक केस पर क्या-क्या बोले शिक्षा मंत्री

केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि सरकार राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के कामकाज की जांच और सुधारों की सिफारिश करने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति गठित करेगी।

फैल गया था डर, कुछ छात्र पहुंच गए कोर्ट; NEET पेपर लीक केस पर क्या-क्या बोले शिक्षा मंत्री
dharmendra pradhan
Himanshu Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 20 Jun 2024 11:50 PM
ऐप पर पढ़ें

मेडिकल प्रवेश परीक्षा (नीट) में कथित अनियमितताओं के खिलाफ विरोध प्रदर्शन लगातार तेज हो रहा है। इस मामले को लेकर केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। प्रधान ने कहा कि सरकार राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के कामकाज की जांच और सुधारों की सिफारिश करने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति गठित करेगी। यूजीसी-नेट परीक्षा रद्द किए जाने और नीट परीक्षा को लेकर जारी विवाद के बीच प्रधान ने समिति गठित करने की घोषणा की।

इस विवाद के बीच शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान उन्होंने कहा, "नीट के संबंध में, पहली विसंगति ग्रेस मार्क को लेकर थी। कुछ गलत मैनेजमेंट के कारण एक डर फैल गया और कुछ छात्र उत्तेजित हो गए और अदालत में चले गए। बाद में एनटीए ने कोर्ट के सामने नया प्रस्ताव रखा कि जिन छात्रों को ग्रेस मार्क्स मिले हैं उनकी दोबारा परीक्षा कराई जा सकती है, इस तरह नीट से जुड़े मुख्य मुद्दे का समाधान निकाला गया।"

इस मुद्दे पर आगे बोलते हुए प्रधान ने कहा कि पटना के कुछ मामले सामने आए। शिक्षा मंत्री ने कहा कि वह पटना में नीट परीक्षा के आयोजन में कथित अनियमितताओं पर बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई की रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं और उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

एनटीए में सुधारों के लिए होगा हाई लेवल समिति का गठन
प्रधान ने कहा, "सरकार एनटीए में सुधारों के संबंध में एक उच्च स्तरीय समिति गठित करने जा रही है। समिति से एनटीए, इसकी संरचना, कार्यप्रणाली, परीक्षा प्रक्रिया, पारदर्शिता और डेटा सुरक्षा प्रोटोकॉल में और सुधार के लिए सिफारिश करने की उम्मीद की जाएगी। त्रुटि रहित परीक्षा हमारी प्रतिबद्धता है।" उन्होंने कहा, "समिति को जल्द ही अधिसूचित किया जाएगा और इसमें वैश्विक विशेषज्ञ भी होंगे।"

प्रधान ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा, "राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) की परीक्षा के साथ किसी तरह का समझौता नहीं होगा। परीक्षा को 'त्रुटि रहित' बनाया जाएगा।" उन्होंने कहा, "राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) के लिए उच्च स्तरीय समिति गठित की जाएगी, जो इसको और बेहतर बनाने के लिए सुझाव देगी। समिति से एनटीए की संरचना, कार्यप्रणाली, परीक्षा प्रक्रिया, पारदर्शिता और डेटा सुरक्षा प्रोटोकॉल को और बेहतर बनाने के लिए सिफारिशें अपेक्षित रहेंगी।"

विद्यार्थियों के हित में है सरकार: धर्मेंद्र प्रधान
उन्होंने कहा, "मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि सरकार विद्यार्थियों के हितों को सुरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है। पारदर्शिता के साथ हम कोई समझौता नहीं करेंगे। विद्यार्थियों का हित हमारी प्राथमिकता है और किसी भी कीमत पर उसके साथ समझौता कि नीट परीक्षा के संबंध में हम बिहार सरकार के लगातार संपर्क में हैं और पटना से हमारे पास कुछ जानकारी भी आ रही है। आज भी कुछ चर्चा हुई है। पटना पुलिस के पास कुछ जानकारी आई जो सबसे सामने भी है। विस्तृत रिपोर्ट जल्‍द केंद्र सरकार को भेजेंगे।"

दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा: केंद्रीय शिक्षा मंत्री
केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा, "मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूं कि पुख्ता जानकारी आने पर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। एनटीए हो या एनटीए में कोई भी व्यक्ति हो दोषी के खिलाफ बख्शा नहीं जाएगा।" उन्होंने विद्यार्थियों से अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील करते हुए कहा, "विद्यार्थी हमारे देश का भविष्य हैं। मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि इस संवेदनशील मुद्दे पर किसी तरह की अफवाह न फैलाई जाए। सारी चीजों को राजनीति के नजरिए से न देखा जाए। मैं सभी से सहयोग की कामना करता हूं।"