DA Image
17 फरवरी, 2020|9:38|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

देश के कई हिस्सों में चार दिनों में तीन बार भूकंप के झटके

Four killed and 32 missing after 6.7 magnitude earthquake hits Japan

पिछले चार दिनों में तीन बार देश के अलग-अलग हिस्सों में तीन बार भूकंप के झटके महसूस किए गए। असम, मेघालय, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के कुछ क्षेत्रों में बुधवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए, जिनकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.5 मापी गई। इससे पहले सोमवार और रविवार को दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा में भूकंप के झटके महसूस किए गए। 

भारतीय मौसम विभाग ने बताया कि बिहार, झारखंड और सहित पूर्वी राज्यों में बुधवार सुबह सुबह 10:20 पर भूकंप आया और करीब 15 से 20 सेंकड तक इसके झटके महसूस किए गए। शिलांग में केंद्रीय भूकंप वेधशाला की एक रिपोर्ट के अनुसार, भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 5.5 मापी गई। भूकंप का केंद्र असम के कोकराझार शहर से दो किलोमीटर दूर उत्तर-पश्चिम में 10 किलोमीटर की गहराई में था। कहीं भी किसी के हताहत होने या संपत्ति के नुकसान की कोई सूचना नहीं है। इससे पहले दिल्ली-एनसीआर में सोमवार सुबह 6.28 पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। इसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.7 मापी गई। इसी इलाके में रविवार को मध्य तीव्रता का एक और भूकंप आया था। 

हिमालयी क्षेत्र के लिए खतरनाक नहीं छोटे भूकंप

- हिमालयी क्षेत्र में भूगर्भी हलचल लगातार होने से यहां छोटे भूकंप लगातार आते रहते हैं। 

- कई भूकंप तो इतने छोटे होते हैं कि ये रिक्टर पैमाने पर भी दर्ज नहीं होते। 

- ऐसे छोटे भूकंप खतरनाक नहीं लेकिन भविष्य को लेकर एक चेतावनी के तौर पर देखें।  

वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. सुशील कुमार के अनुसार, हिमालय में भूकंप आना आम बात है। यहां पर कम स्केल के भूकंप रोज दर्ज किए जाते हैं। आसाम में आए भूकंप का प्रभाव उत्तराखंड में भी आंशिक रूप से देखा गया। 

किसानों पर सरकार मेहरबान: PM-अन्नदाता आय संरक्षण अभियान को मिली मंजूरी

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Earthquake shocks three times in four days in many parts of India