DA Image
10 जुलाई, 2020|4:16|IST

अगली स्टोरी

निसर्ग तूफान के चलते मुंबई एयरपोर्ट पर शाम 7 बजे तक विमान की लैंडिंग और टेकऑफ कैंसिल

ndrf presonnel deployed at versova beach before the landfall of cyclone nisarga in mumbai on wednesd

निसर्ग तूफान के चलते दोपहर ढ़ाई बजे से लेकर शाम 7 मुंबई में विमान की लैंडिंग या फिर टेकऑफ की इजाजत नहीं दी गई है। 20 विमान मुंबई एयरपोर्ट से शेड्यूल था जिनमें से 12 डिपार्टर और 8 अराइवल था। मंगलवार को इंडिगो ने ऐलान किया था कि उसने मुंबई से 17 विमान कैंसिल किया है और सिर्फ तीन विमान चंडीगढ़, रांची और पटना के लिए टेकऑफ करेगा।

महाराष्ट्र के पश्चिमी इलाकों में दोपहर करीब 90 किलोमीटर की रफ्तर हवा चली और अलीबाग में लैंडफॉल हुआ है। मुंबई में तेज हवाओं के साथ लगातार बारिश हो रही है। तूफान 120 से 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ चलने के चलते अथॉरिटीज को बांद्रा-वर्ली सी लिंक बंद करना पड़ा।

महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के तटवर्ती क्षेत्र कोंकण से करीब 60 हजार लोगों को निकाला है और आपदा प्रबंधन अथॉरिटीज की मदद से 7003 मछुआरों के नाव को समुद्र के तट पर लेकर आई है। महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने कहा कि चक्रवात निर्सग के चलते बिजली लाइन्स और खंभों का भारी नुकसान पहुंचा है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र स्टेट इलैक्ट्रीसिटी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी के ऑफिसर, कर्मचारी, कंट्रैक्टर और सिस्टम्स तैयार हैं। सभी सतर्क रहें और इस संकट से बाहर आएंगे।

 

पश्चिमी महाराष्ट्र के कई जिलों में बुधवार को निसर्ग तूफान के चलते भारी बारिश हुई और राज्य के रायगढ़ जिले में तूफान के टकराने से लैंडफॉल हुआ है। वहां पर मंगलवार की रात से ही भारी बारिश हो रही है। पुणे जिले के कई क्षेत्रों में भारी बारिश हो रही है, जैसे –पुणे, मवाल, मुलशी और वेल्हे। अन्य इलाके जैसे सतारा, कोल्हापुर और सांगली में भी भारी बारिश हो रही है। कई जगहों पर पेड़ और बिजली के खंभे जड़ों से उखड़ गए। कई जगहों पर बत्ती गुल होने की खबर है। मौसम विभाग ने कहा कि पिछले 24 घंटे के दौरान बुधवार की सुबह तक पुणे के शिवाजी नगर में 44 एमएम जबकि लोहेगांव में 97 एमएम और पाशान में 51 एमएम बारिश दर्ज की गई है।

पेड़, मकान और बिजली के खंभे गिरे

शहर के कई हिस्सों में भारी जल-जमाव हो गया है। आईएमडी के पुणे के डायरेक्टर अनुपम कश्यपी ने कहा कि अगले तीन दिनों तक महाराष्ट्र के ज्यादातर हिस्सों में बारिश होगी। जिला कलेक्टर नवल किशो राम ने कहा, हमने ऊंचे इलाकों के लिए अलर्ट जारी किया है, जैसे- अम्बेगांव, जुनार, मवाल, भोर, वेल्हे और मुल्शी जहां पर तूफान का बड़ा असर देखने मिल सकता है।

राम ने कहा, अगर जरूरत पड़ी तो हमने इन इलाकों के लिए लोगों को हटाने की प्लान भी बनाया है। लोगों से कहा गया है कि वे अपने घरों से बाहर न निकलें। मौसम विभाग ने बताया कि निसर्ग तूफान के चलते रायगढ़ के अलीबाग में सुबह साढ़े ग्यारह बजे 120 से 140 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा के साथ लैंडफॉल शुरू हुआ। यह 1961 में आए चक्रवाती तूफान के बाद दूसरा अब तक का सबसे बड़ा तूफान है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Due to Nisarga cyclone the aircraft will not be landing or take off at Mumbai airport till 7 pm