DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीफ जस्टिस के खिलाफ साजिश के दावों की जांच करेंगे रिटायर्ड जज: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने न्यायपालिका पर 'सोच समझकर' किए जा रहे हमले पर गुरुवार को नाराजगी जताई और कहा कि अब इस देश के अमीर एवं ताकतवर लोगों को यह बताने का समय आ गया है कि वे 'आग' से खेल रहे हैं।

the supreme court has told chiefs of cbi  delhi police and the intelligence bureau to assist ex-sc j

1 / 2The Supreme Court has told chiefs of CBI, Delhi Police and the intelligence bureau to assist ex-SC judge AK Patnaik to probe claims of conspiracy against Chief Justice(Sonu Mehta/HT PHOTO)

The Supreme Court directed the attorney general to inform the court within 10 days the possible date

2 / 2CJI के खिलाफ साजिश: नाराज SC बोला, 'आग से खेलना बंद करें' (पीटीआई)

PreviousNext

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश ए के पटनायक को, प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ कथित साजिश संबंधी अधिवक्ता उत्सव सिंह बैंस के दावों की जांच के लिये नियुक्त किया। कोर्ट ने कहा कि न्यायमूर्ति पटनायक प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों के मसले पर गौर नहीं करेंगे। कोर्ट ने केन्द्रीय जांच ब्यूरो, गुप्तचर ब्यूरो और दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया कि न्यायमूर्ति पटनायक को जरूरत के समय हर तरह से सहयोग करें। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि न्यायमूर्ति पटनायक की जांच के नतीजे प्रधान न्यायाधीश के खिलाफ शिकायत की जांच कर रही आंतरिक जांच समिति को प्रभावित नहीं करेंगे। 

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने न्यायपालिका पर 'सोच समझकर' किए जा रहे हमले पर गुरुवार को नाराजगी जताई और कहा कि अब इस देश के अमीर एवं ताकतवर लोगों को यह बताने का समय आ गया है कि वे 'आग' से खेल रहे हैं और यह रुक जाना चाहिए। वहीं, रिटायर्ड जस्टिस एके पटनायक की अध्यक्षता में जांच टीम बनाई गई है। इसमें उनकी मदद CBI, IB और दिल्ली पुलिस करेंगे।

शीर्ष अदालत एक अधिवक्ता उत्सव सिंह बैंस के उन दावों पर सुनवाई कर रही थी जिसमे प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई को यौन उत्पीड़न के आरोपों में फंसाने के लिए एक बड़ा षड्यंत्र रचे जाने की बात कही गयी है। न्यायालय ने वकील के दावों की सुनवाई करते कहा कि वह अपराह्न दो बजे आदेश देगा।

न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार, न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा, न्यायमूर्ति आर एफ नरिमन और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ ने कहा कि पिछले तीन-चार साल से न्यायपालिका से जिस प्रकार पेश आया जा रहा है, वह उससे बेहद नाराज है। पीठ ने कहा कि वह अपराह्न दो बजे इस मामले में अपना आदेश सुनायेगी।

ये भी पढ़ें: CJI के खिलाफ साजिश पर SC ने कहा, 'अमीर और शक्तिशाली इस कोर्ट को नहीं चला सकते'

पीठ ने कहा, 'पिछले कुछ वर्षों से जिस तरीके से इस संस्था से पेश आया जा रहा है, उसे देखकर हमें कहना पड़ेगा कि यदि ऐसा होगा तो हम काम नहीं कर पाएंगे।' न्यायालय ने कहा, 'इस संस्था को बदनाम करने के लिए एक सोच समझ कर हमला किया जा रहा है और सोच समझ कर यह खेल खेला जा रहा है।' न्यायालय ने कहा कि मनमाफिक पीठ के समक्ष सुनवाई कराने के आरोप बहुत ही गंभीर है और उनकी जांच की जानी चाहिए। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Don t play with fire Top court s clear warning on conspiracy against CJI