DA Image
हिंदी न्यूज़ › देश › फरार होकर मेहुल चोकसी ने कर दी 'बड़ी गलती', अब एंटीगुआ नहीं लेगा वापस, PM बोले- डोमिनिका से सीधे भारत भेजा जाएगा
देश

फरार होकर मेहुल चोकसी ने कर दी 'बड़ी गलती', अब एंटीगुआ नहीं लेगा वापस, PM बोले- डोमिनिका से सीधे भारत भेजा जाएगा

हिन्दु्स्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Shankar Pandit
Thu, 27 May 2021 08:39 AM
File Photo
1 / 2File Photo
mehul choksi
2 / 2mehul choksi

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले का आरोपी भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी डोमिनिका में पकड़ा गया है। एंटीगुआ मीडिया ने बुधवार यह दावा किया। सूत्रों के मुताबिक चौकसी डोमिनिका से क्यूबा भागने की फिराक में था, उसी दौरान उसे दबोच लिया गया। यह गिरफ्तारी स्थानीय समयानुसार मंगलवार दोपहर को हुई। इस पर एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउनी ने इशारा कर दिया है कि उसे सीधा भारत भेजा जा सकता है। उन्होंने कहा कि हमने डोमिनिका से कहा है कि वो गैरकानूनी रूप से डोमिनिका में प्रवेश करने पर मेहुल चोकसी पर कार्रवाई करे और उसे सीधे भारत को प्रत्यर्पित कर दे। 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एंटीगुआ और बरबुडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउनी ने कहा कि डोमिनिका में पकड़े गए भगोड़ा हीरा व्यापारी मेहुल चोकसी को भारत प्रत्यर्पित किया जाएगा और भारतीय अधिकारी डोमिनिका में उन लोगों के संपर्क में हैं। बता दें कि एक दिन पहले यह खबर आई थी कि चौकसी एंटीगुआ-बारबुडा से लापता हो गया है। वहां की मीडिया के मुताबिक, पुलिस रविवार से चोकसी की तलाश कर रही थी। चौकसी आखिरी बार रविवार शाम 5.15 बजे देखा गया था। इसके बाद उसके खिलाफ इंटरपोल येलो नोटिस जारी किया गया था। इसके तहत पड़ोसी मुल्क डोमिनिका ने उसे पकड़ लिया। 

एएनआई को दिए इंटरप्यू में प्रधानमंत्री ब्राउनी ने कहा कि डोमिनिका मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण पर सहमत हो गया है और एंटीगुआ उसे वापस स्वीकार नहीं करेगा। एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ब्राउनी ने कहा कि उन्होंने डोमिनिका में पीएम स्केरिट और कानून प्रवर्तन से मेहुल चोकसी को एंटीगुआ नहीं लौटाने का अनुरोध किया है, जहां उन्हें नागरिक के रूप में कानूनी और संवैधानिक सुरक्षा प्राप्त है

उन्होंने कहा कि हमने डोमिनिकन सरकार से अनुरोध किया है कि उसे हिरासत में लिया जाए और उसे भारत वापस करने के लिए व्यवस्था की जाए। हम चोकसी को वापस नहीं लेंगे। उन्होंने आगे कहा 'वह डोमिनिका में पाया गया। संभवतः उसने नावों के जरिए अवैध रूप से डोमिनिका में प्रवेश किया था। डोमिनिकन सरकार एंटीगुआ और भारतीय सरकारों के साथ सहयोग कर रही है। हमने डोमिनिकन कानून प्रवर्तन एजेंसियों से अनुरोध किया है कि वह उसे एंटीगुआ न लौटाए, जहां एक नागरिक के तौर पर उसके पास कानूनी और संवैधानिक अधिकार हैं। हमने विशेष रूप से उनसे भारतीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों को सीधे भारत लौटने के लिए आवश्यक व्यवस्था करने का अनुरोध किया है। 

क्या चोकसी को प्रत्यर्पित किया जाएगा, इस सवाल पर एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ब्राउनी ने कहा कि हां, मुझे पूरा यकीन है। मुझे पता नहीं है कि वह डोमिनिका का नागरिक है और उसे किसी भी संवैधानिक संरक्षण का सुख मिलता है, इसलिए उस आधार पर डोमिनिका के लिए उसे निर्वासित करना आसान होगा। उन्होंने आगे कहा, 'डोमिनिका चोकसी को प्रत्यर्पित करने पर राजी हो गया है। हम उसे वापस नहीं लेंगे। उसने बहुत बड़ी गलती कर दी है। डोमिनिकन सरकार और वहां की एजेंसी हमारा सहयोग कर रही हैं और हमने प्रत्यर्पण के लिए भारत सरकार को सूचित कर दिया है।'

इधर, मेहुल चौकसी के वकील विजय अग्रवाल ने भी डोमिनिका में पाए जाने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि मैंने उनके परिवार से बात की है। परिवार के लोग उनसे बात करने का प्रयास कर रहे हैं ताकि कोई स्पष्ट तस्वीर जान सके कि उन्हें डोमिनिका कैसे ले जाया गया। 

बता दें कि 13500 करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले का आरोपी चौकसी जनवरी 2018 में विदेश भाग गया था। बाद में पता चला कि वह 2017 में ही एंटीगुआ-बारबुडा की नागरिकता ले चुका था। पीएनबी घोटाले की जांच कर रही है केंद्रीय जांच ब्यूरो और प्रवर्तन निदेशालय चौकसी के प्रत्यर्पण की कोशिश में जुटी हैं। वह खराब सेहत का हवाला देकर भारत में पेशी पर आने से इनकार कर चुका है। इस घोटाले का मुख्य आरोपी चौकसी का भांजा नीरव मोदी लंदन की जेल में है। 

मेहुल का डोमिनिका पुलिस की गिरफ्त में आना भारत के लिए राहत की खबर है। क्योंकि एंटीगुआ प्रशासन की तरफ से साफ कर दिया गया था कि अगर मेहुल चौकसी भागने में कामयाब रहा और उसे नहीं ढूंढा जा सका, तो प्रत्यर्पण केस पर इसका असर पड़ सकता है और उसको भारत लाने की प्रक्रिया बीच में ही अटक सकती है। लेकिन अब मेहुल डोमिनिका में पकड़ा गया है,  ऐसे में उसे भारत लाने की कोशिश भी जारी रहने वाली है और उसकी एंटीगुआ नागरिकता रद्द करने की मांग भी लगातार उठाई जाएगी।
 

संबंधित खबरें